तू किसी और की हो गई

तू किसी और की हो गई

अपनी जिंदगी ही पराई लगती है ।

मोहब्बत में आशिकी तमाम लगती है ।

आज नहीं तो कल वो जरूर दिखेगा ।

इस उम्मीद में आखे दिन रात तकती है ।

तुझे याद में रोज करता गया ।

न जाने तू कब किसी और की हो गई ।