ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम में TRS का रहा दबदबा, BJP कांग्रेस का सफाया

Feb 06 2016 12:21 PM
ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम में TRS का रहा दबदबा, BJP कांग्रेस का सफाया

हैदराबाद : ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम के चुनाव में तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव के दल टीआरएस को अपार सफलता मिली है। दरअसल यहां पर कांग्रेस और भाजपा को हार मिली है। जबकि टीआरएस ने 150 सीटों में से आधे से भी ज़्यादा अर्थात् 100 सीटों पर कब्जा जमा लिया। ऐसे में नगरीय निकाय में टीआरएस का दबदबा बन गया। चुनाव में तेलगु देशम पार्टी को भी अधिक मत नहीं मिल पाए हैं।

150 सीटों के लिए हुए ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम के चुनाव में तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव की पार्टी को तो सौ सीटें मिली हैं मगर कांग्रेस को 2 सीटों से ही संतोष करना पड़ा। जबकि प्रभुत्व वाली भारतीय जनता पार्टी की सरकार को 3 और तेलगु देशम पार्टी को 1 सीट ही मिली है। इन चुनावों में तेलगु देशम पार्टी को मुश्किलों का सामना करना पड़ा है। हालांकि इस चुनाव में सांसद असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी ने शानदार प्रदर्शन किया। जिसमें उन्हें 41 सीटों पर जीत मिली है। माना जा रहा है कि मुस्लिम वोट बैंक का ओवैसी की पार्टी को लाभ मिला है। 

वर्ष 2009 में ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम चुनाव में टीआरएस ने हिस्सा नहीं लिया था। पार्टी के लिए यह चुनाव बेहद अहम था दरअसल हैदराबाद राज्य के विघटन और तेलंगाना राज्य के निर्माण के बाद यह पार्टी के लिए पहला चुनाव था। 2009 में हुए चुनाव में कांग्रेस को 55 और एआईएमआईएम को 43 सीटें प्राप्त हुई थीं। उस चुनाव में भाजपा-तेदेपा का गठबंधन नहीं था और दोनों को कुल मिलाकर 50 सीटें मिली थीं। कांग्रेस ओवैसी की पार्टी के साथ सत्ता में रही।