केंद्रीय मंत्री अरूण जेटली की बढ़ सकती हैं मुश्किलें

महोबा : राष्ट्रीय न्यायिक नियुक्ति आयोग को लेकर सुप्रीम कोर्ट के निर्णय की आलोचना की गई, जिसके बाद इस मसले पर केंदीय मंत्री अरूण जेटली को यह बहुत ही भारी पड़ गया। इस मामले में कहा गया है कि केंद्रीय मंत्री अरूण जेटली के विरूद्ध राजद्रोह का प्रकरण दर्ज किया गया है। मामले में यह बात भी सामने आई है कि बुंदेलखंड के न्यायालय ने समाचारपत्रों में छपे समाचार के अनुसार संज्ञान लेकर जेटली के विरूद्ध राजद्रोह का मामला दर्ज कर दिया है।

मिली जानकारी के अनुसार केंद्रीय वित्तमंत्री अरूण जेटली की टिप्पणी को राष्ट्रविरोधी करार देते हुए उनके खिलाफ वाद दायर करने की मांग की गई। इस दौरान यह भी कहा गया कि बुंदेलखंड के कल्पाहार थाने में आईपीसी की धारा 505 व 124 - ए के अंतर्गत एफआईआर दायर की गई। दूसरी ओर महोबा एसपी को समन जारी करने का आदेश भी दिया गया। केंद्रीय वित्तमंत्री अरूण जेटली ने अपनी ओर से सोश्यल मीडिया को लेकर कहा कि सर्वोच्च न्यायालय के एनजेएसी की आलोचना की गई।

उन्होंने कहा था कि भारतीय लोकतंत्र गैर-निर्वाचित लोगों का निरंकुश तंत्र नहीं हो सकता है। यदि ऐसा हुआ तो लोकतंत्र मुश्किल में पड़ जाएगा। गौरतलब है कि जेटली के खिलाफ राजद्रोह का मामला दर्ज करने का आदेश देने वाले जज वहीं हैं जिन्होंने सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव के बलात्कार की घटनाओं को लेकर दिए गए आधारहीन बयान के चलते FIR दर्ज करने का आदेश दिया था। इस मामले में इसकी सुनवाई 9 नवंबर को किए जाने की संभावना है। 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -