पर्यटकों ने लिया कालका-शिमला ट्रैक पर ओल्ड स्टीम इंजन का मज़ा

Jan 30 2016 01:11 PM
पर्यटकों ने लिया कालका-शिमला ट्रैक पर ओल्ड स्टीम इंजन का मज़ा

शिमला  : पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए शुक्रवार को शिमला से तारा देवी स्टेशन के एक बार फिर से हैरिटेज शिमला-कालका ट्रैक पर शताब्दी का पुराना स्टीम इंजन दौड़ा. स्टीम इंजन के साथ 2 डिब्बे जोड़े गए इनमें इंगलैंड से आए 30 लोगों को सवारी कराई. इन सभी लागों ने इस आधुनिक युग में स्टीम इंजन में बैठने का आनंद लिया.

इन विदेशी टूरिस्टों को स्टीम इंजन की सैर करवाने के लिए ट्रैवल पार्लस कंपनी के ऑर्गेनाइजर अमित चोपड़ा ने रेल विभाग की सेवाएं ली थीं. उन्होंने इस विदेशी दल के लिए शिमला से तारा देवी के सफर के लिए डेढ़ लाख रुपए की राशि का भुगतान किया है. 

अमित का कहना है कि स्टीम इंजन के सफर के दौरान सभी विदेशी पर्यटक बहित रोमांचित थे. उन्होंने इसे अपने जीवन का सबसे शानदार सफर बताया, विदेशी पर्यटकों का कहना था कि यह सफर उन्हें हमेशा याद रहेगा. 

इस स्टीम इंजन को कालका रेलवे टै्रक पर वर्ष 1906 में पहली बार दौड़ाया गया था जिसके बाद यह 1971 तक चलता रहा र लेकिन किन्हीं कारणों से इन्हे बंद कर बंद कर डीजल इंजन चलाए गए. इसके बाद स्टीम इंजन को वर्ष 2001 में एक बार फिर चलाया गया था .आप को बता दें कि यूनेस्को द्वारा कालका-शिमला रेलवे ट्रैक को विश्व धरोहर घोषित किया गया है.