सुबह 3 बजे से लेकर 4 बजे तक हो सकती है आपकी भी मृत्यु.... जाने कैसे

मौत एक ऐसी चीज़ है जो कभी भी आ सकती है. मौत कभी भी किसी को बताकर नहीं आती है. न ही ये उम्र देखकर आती है. जिसकी किस्मत में जितनी उम्र लिखी होती है वो उतना ही जीता है लेकिन किसी-किसी व्यक्ति की असमय ही मृत्यु हो जाती है. आज हम आपको मौत से जुडी कुछ ऐसी बाते बता रहे है जिसे सुनकर आप भी हैरान हो जाएंगे.

सुबह 3 बजे से लेकर 4 बजे तक का जो समय होता है उस समय आपका शरीर सबसे ज्यादा कमजोर होता है. इसलिए नींद में सबसे ज्यादा मृत्यु इस समय पर ही होती है.

दुनिया में करीब 1.5 मिलियन लोग हर दिन में मर जाते है.

ये तो सभी को पता है कि डॉक्टर की लिखावट सबसे ख़राब होती है. तो डॉक्टरों की लिखावट से ही करीब 7 हजार लोग हर साल मर जाते है.

यदि किसी भी आदमी का सिर काट दिया जाए तो वो उसके बाद भी करीब 20 सेकंड तक जिन्दा रह सकता है लेकिन किसी के सिर पर गोली मार दी जाए तो आदमी तुरंत मर जाता है.

उल्टे हाथ से लिखने वाले लोग सीधे हाथ से लिखने वाले लोगो की तुलना में 3 साल पहले ही मर जाते है.

दोस्तों के साथ प्रैंक करने के लिए सही है ये मकड़ी

महिलाओं के मैचिंग नेकलेस का झंझट खत्म, आ गया अनोखा पेंडेंट

हुदहुद...सुनामी...ओखी : कहाँ से आती है, कहाँ को जाती है?

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -