टोंड दूध का सेवन हो सकता है खतरनाक

टोंड दूध का सेवन हो सकता है खतरनाक

लोग क्रीम निकले व टोंड या फिर डबल टोंड दूध का इस्तेमाल करते हैं. लेकिन ये दूध स्वास्थ्य के लिए हानिकारक साबित हो सकता है. टोंड दूध से पोषण कम मिल पाता है और इसमें शुगर की मात्रा भी थोड़ी ज्यादा होती है. 

1-सभी प्रकार के दूध में फैट की मात्रा अधिक नहीं होती. ज्यादातर लोग फैट अधिक होने की वजह से क्रीम रहित दूध का सेवन करते हैं. लेकिन गाय का दूध आपके लिये सबसे बेहतर विकल्प होता है. गाय के फुल फैट दूध में वसा की मात्रा केवल 3.7 प्रतिशत होती है. साधारण दूध केवल तब हाई फैट की श्रेणी में आता है, जब ये मात्रा 20 प्रततिशत से अधिक होती है. इसलिए स ही मायने में स्किम्ड दूध का सेवन भी सेहत के लिए अच्छा नहीं है.

2-टोंड दूध में विटामिन ए, डी, ई और के मौजूद होते हैं और इन्हें अवशोषित करने के लिये शरीर को वसा की जरूरत भी होती है. सात ही वसा युक्त दूध से बनी एक कप चाय पीने बर से ही आपकी रोजाना की विटामिन की 5 प्रतिशत जरुरत की पूर्ती हो जाती है. इससे आपको दैनिक आवश्यकता का 20 प्रतिशत राइबोफ्लेविन भी मिल जाता है. इस मायने में आपके लिये ताज़ा दूध टोंड या स्किम्ड दूध से कहीं बेहतर होता है.

3-लोग अकसर सोचते हैं की स्किम्ड दूध में शुगर नहीं मिलाई जाती, लेकिन ये गलत है. वसा निकालने के बाद उसकी भरपाई करने के लिए स्किम्ड दूध में कई मीठे तत्व मिलाए जाते हैं, जोकि सेहत के लिये ठीक नहीं होते हैं. ताज़ा दूध लाने में आपको थोड़े अधिक पैसे और मेहनत तो लगती है, लेकिन पैक्ड दूध से आधी मात्रा में भी ये आपके लिये कहीं अधिक पौष्टिक और सुरक्षित होता है.