टोक्यो पैरालंपिक खेलों में मनीष-सिंहराज का धमाका, भारत को एक साथ दिलाया गोल्ड और सिल्वर

शनिवार का दिन जापान की राजधानी टोक्यो में खेले जा रहे पैरालंपिक खेलों में भारत के लिए बहुत सारी खुशियां लेकर आया। यहां पैरा प्लेयर मनीष नरवाल ने शूटिंग के P4 मिक्सड 50 मीटर पिस्टल SH1 इवेंट में स्वर्ण पदक पर निशाना साधा, वहीं इसी कार्यक्रम में भारत के ही सिंहराज अडाना ने सिल्वर पदक पर कब्जा किया। इस स्वर्ण के साथ ही मनीष ने टोक्यो पैरालंपिक खेलों में भारत को तीसरा स्वर्ण पदक दिला दिया है। 

वही 19 वर्ष के नरवाल ने पैरालम्पिक खेलों का रिकॉर्ड बनाते हुए 218.2 का स्कोर किया। वहीं मंगलवार को कांस्य पदक जीतने वाले अडाना ने 216.7 प्वॉइंट्स हासिल कर सिल्वर पदक अपने नाम किया। रूस ओलंपिक समिति के सर्जेइ मालिशेव ने 196.8 प्वॉइंट्स के साथ कांस्य पदक जीता। इससे पूर्व क्वालीफाइंग दौर में अडाना 536 प्वॉइंट्स लेकर चौथे तथा नरवाल 533 प्वॉइंट्स लेकर सातवें स्थान पर थे। भारत के आकाश 27वें स्थान पर रहकर फाइनल में स्थान नहीं बना सके थे।

वही इस कार्यक्रम में निशानेबाज एक ही हाथ से पिस्टल पकड़ते हैं, क्योंकि उनके एक हाथ या पैर में विकार होता है जो रीढ़ की हड्डी में चोट या अंग कटने के कारण होता है। कुछ निशानेबाज खड़े होकर तो कुछ बैठकर निशाना लगाते हैं। मनीष से पूर्व निशानेबाजी में ही 19 वर्ष की अवनि लेखरा ने 10 मीटर एयर राइफल स्टैडिंग एसएच1 इवेंट में स्वर्ण पदक जीता था। यह भारत का निशानेबाजी में पहला स्वर्ण पदक था। अवनि ने इसके अतिरिक्त 50 मीटर राइफल थ्री पॉजिशन एसएच1 इवेंट में कांस्य पदक हासिल किया था। अवनि इस प्रकार दो पैरालंपिक पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी बनी थीं। 

Ind vs Eng: मैच में टीम इंडिया की जबरदस्त वापसी, इंग्लैंड की आधी टीम लौटी पवेलियन

IPL 2022 में खेलेंगी दो नई टीमें, BCCI ने आमंत्रित की बोलियां...जानिए कौन से शहर की होंगी ये टीम

Ind Vs Eng: घुटने से रिसता रहा खून, फिर भी गेंदबाज़ी करते रहे एंडरसन, जज्बे को सलाम कर रहे फैंस

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -