स्पेस में टॉयलेट को ही रिसाइकल करके किया जाता उसे इस्तेमाल

स्पेस एक ऐसी जगह होती है जहां हर किसी के जाने का दिल करता है. स्पेस में कौन नहीं जाना जाता है लेकिन वहां जाने के लिए भी कई मुसीबतों का सामना करना पड़ता है. स्पेस में हर कोई उड़ता ही रहता है. यहाँ ज़ीरो ग्रेविटेशनल फाॅर्स रहता है जिसके कारण कोई भी चीज़ एक जगह नहीं टिक पाती है. स्पेस में आदमी उड़े ना इसलिए एस्ट्रोनॉट्स को भी स्पेस सूट पहनाया जाता है. लेकिन आज हम आपको स्पेस से जुडी एक ऐसी बात बताने जा रहे है जिसे सुनने के बाद शायद आपका कभी भी स्पेस में जाने के मन नहीं करेगा.

स्पेस में एस्ट्रोनॉट्स के लिए अलग से वाशरूम बनाया होता है जहां पर वो पोट्टी और टॉयलेट कर सकते है. एस्ट्रोनॉट्स स्पेस में वैक्यूम टॉयलेट में जाकर पोट्टी और टॉयलेट करते है. उनकी पॉटी तो वहा डिस्पोस कर दी जाती है लेकिन टॉयलेट का क्या किया जाता है ये आपको हैरान कर देगा. स्पेस में एस्ट्रोनॉट्स को टॉयलेट करने के लिए पाइप का इस्तेमाल करना होता है. यहाँ उनकी पेशाब को फेंका नहीं जाता बल्कि उसे रिसाइकल किया जाता है और इसके बाद वो पानी के रूप में बदल जाती है.

जी हाँ... सुनकर आपके भी कान खड़े ही गए ना. स्पेस में रिसाइकल की हुई पेशाब को पानी में बदलकर फिर उसे ही इस्तेमाल किया जाता है. जी हाँ... स्पेस में कुछ भी काम करना बहुत खर्चीला होता है. स्पेस में जाने से पहले एस्ट्रोनॉट्स को धरती पर ही टॉयलेट जाने की प्रैक्टिस भी कराइ जाती है ताकि वो यहाँ अच्छे से टॉयलेट और पोट्टी कर सके.

मार्केट में आया चलता-फिरता Coolala AC, बिना बिजली के देगा ठंडी हवा

अब तलाक लेना है तो पहले परीक्षा दीजिये...

रावण ने नहीं राम ने किया था सीता का अपहरण