विद्याथियों ने स्कॉलरशिप के पैसों से स्कूल में बनवाया टॉयलेट

आज आपने भी देखा होगा की स्वक्छ्ता की और बच्चों का बहुत ध्यान है आज हाल ही में शुरू हुए इस स्वक्छ भारत अभियान से बच्चों में काफी असर  हुआ है.बच्चे स्वक्छ्ता की और विशेष ध्यान दे रहे है उनकी जागरूकता दिखाई दे रही है.इसी के चलते आजकल जहां लोगअपनी समस्‍याओं में उलझे रहते हैं वहीं दो बच्‍चों ने सभी के सामने ऐसा कारनामा कर दिखाया है,जे एक बड़ी बात है.

सरकार शौचालय बनवाने की मुहिम को लेकर बेहद संजीदा है, लेकिन अब तक लोगों में इसके प्रति जागरुकता पूरी तरह से नहीं आई है. इन सबके बावजूद मध्‍य प्रदेश के एक छोटे से जिले में मिमोना और आमिर खान के बच्‍चों ने अपनी स्‍कॉलरशिप से स्‍कूल में टॉयलेट बनवाने का काम किया है.

कहां से आया आइडिया: 
इन दोंनों ही बच्‍चों को टॉयलेट बनवाने का आइडिया स्‍कूल में होने वाली रोज की परेशानियों के चलते आया. इस स्‍कूल में सिर्फ एक टॉयलेट थी, जिसकी वजह से अक्‍सर स्‍टूडेंट्स को लंबी लाइन लगानी पड़ जाती थी. इस समस्‍या से निजात पाने के लिए इन स्‍टूडेंट्स ने खास कदम उठाया है.

इन बच्‍चों ने इस फंड में दो हजार रुपये का योगदान दिया है, जिसे देखते हुए उनके पिता ने 14500 रुपये टॉयलेट बनवाने को दिए हैं. आपको बता दें कि इसके पहले 2011 में मिमोना ने सीएम शिवराज सिंह चौहान को 'मामा जी' से संबोधित करते हुए स्‍कूल की सड़क को बनवाने के लिए लेटर लिखा था.

आज उन बच्चों ने सबको यह सीख दी की आप पैसे खर्च कर ऐसे कार्य करें या न करें पर हमारे देश में स्वक्छ्ता को बनाये रखें इससे देश का बड़ा हित होगा.स्वक्छ्ता से ही हम सब की एक बड़ी समस्या दूर होगी .स्वक्छ्ता से तन-मन पर एक गहरा असर होता है .आज से आप भी यह संकल्प लें की हम भी स्वक्छ्ता की और विशेष ध्यान देगें 

खुशखबरी! अब 1 रु का पुराना नोट बना सकता है आपको करोड़पति

Omg..यहां निकाल देते है लड़कियों के प्राइवेट पार्ट का एक हिस्सा

OMG लड़कियां इन चीजों से भी कर लेती है हस्थमैथुन

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -