चंद्र दर्शन का पहला दिन आज, इस तरह चंद्रदेव की पूजा

चंद्र दर्शन या चांद नजर आने का पहला दिन, अमावस्या या अमावस्या के पश्चात्, सभी हिंदुओं के लिए अहम है। धार्मिक मान्यता के मुताबिक, चंद्रमा महत्वपूर्ण खगोलीय पिंडों में से एक है क्योंकि ये पवित्रता, ज्ञान, जीवंतता, संवेदनशीलता ततः प्रसन्नता का गुण रखता है। इसलिए चंद्र दर्शन के दिन चंद्रमा को देखना बेहद शुभ होता है। इस दिन, लोग एक दिन का उपवास रखते हैं तथा अपनी जिंदगी में सुख-समृद्धि की वर्षा करने के लिए भगवान चंद्रमा की आराधना करते हैं। इस माह प्रतिपदा तिथि के शुक्ल पक्ष यानी 5 दिसंबर 2021 को ये शुभ दिन मनाया जाएगा।

चंद्र दर्शन 2021: पूजा विधि:-
– प्रातः जल्दी उठकर स्नान करें तथा एक दिन का व्रत रखने का संकल्प लें
– सूर्यास्त के पश्चात् अर्घ्य देकर चंद्रमा भगवान को अर्घ्य दें
– चंद्र दर्शन के पश्चात् व्रत का समापन करें।
– इस दिन चीनी, चावल, गेहूं, कपड़े एवं अन्य चीजों के रूप में दान करना भी शुभ माना जाता है

वैसे तो चंद्रमा का दर्शन हम किसी विशेष त्योहार के वक़्त ही करते हैं तथा ये भी कुछ वैसा ही है। चंद्र देव सबों को शीतलता प्रदान करते हैं। उनका ध्यान एवं पूजा करना बहुत शुभ माना जाता है। इन सभी विधियों का यदि आप क्रमानुसार पालन करते हैं तथा उपासना करते हैं तो इससे आपकी सभी इच्छाएं स्वत: ही पूरी हो जाएंगी। इसलिए आप इन विधियों का ध्यान रखें तथा उसी अनुरूप चंद्र देव की आराधना करें जिससे कि आपकी सभी तरह की मनोकामनाओं की पूर्ति हो।

प्याज क्यों है वर्जित? जानिए इसकी उत्पत्ति की पौराणिक कथा

नाराज पितरों को मनाने के लिए आज का दिन है बहुत शुभ, जरूर ये करें काम

सूर्य ग्रहण के दौरान आखिर क्यों खाने पीने की चीजों में डाला जाता है तुलसी का पत्ता?

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -