पूरे कैबिनेट से इस्तीफा ले सकते हैं सीएम गहलोत, राजस्थान कांग्रेस में खींचतान जारी

जयपुर: बीते कई दिनों से राजस्थान कांग्रेस में सचिन पायलट गुट और सीएम अशोक गहलोत गुट में जारी रस्साकशी की खबरें सामने आती रही हैं. ऐसे में कांग्रेस हाईकमान राजस्थान सरकार में बड़ा परिवर्तन करने के मूड में है. राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने आज शाम पांच बजे मुख्यमंत्री आवास पर मंत्रिमंडल और मंत्रिपरिषद की मीटिंग बुलाई है. बताया जा रहा है कि इस मीटिंग में सभी मंत्रियों से इस्तीफा लिया जा सकता है. जिसके बाद गहलोत कैबिनेट का पुनर्गठन किया जाएगा. माना जा रहा है कि कल यानी 21 नवंबर को गहलोत सरकार के कैबिनेट का शपथ ग्रहण हो सकता है.

गवर्नर कलराज मिश्र आज यूपी से वापस लौट रहे हैं. कल हुए सियासी घटनाक्रम में राजस्थान के प्रभारी अजय माकन जयपुर पहुंचे और उन्होंने राजस्थान के तीन मंत्रियों शिक्षामंत्री गोबिन्द सिंह जोटासरा, स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा और राजस्वमंत्री हरीश चौधरी के त्यागपत्र देने की घोषणा कर दी. इन तीनों ने कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को पत्र लिखकर इस्तीफे की पेशकश की है और कांग्रेस संगठन में काम करने की इच्छा जाहिर की है. सीएम अशोक गहलोत उदयपुर दौरे पर थे और आज उनके उदयपुर में ठहरने का कार्यक्रम था, लेकिन कांग्रेस हाईकमान के निर्देशों के बाद उनका दौरा कैंसिल कर दिया गया और अजय माकन को जयपुर भेजा गया है.

अजय माकन सीधे हवाई अड्डे से मुख्यमंत्री निवास पहुंचे जहां रात 12 बजे तक उनकी चर्चा होती रही. आज पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट और अजय माकन के बीच चर्चा होगी, जिसके बाद माना जा रहा है कि अशोक गहलोत और सचिन पायलट खेमे के बीच सुलह का रास्ता खुलेगा. तीन मंत्रियों के इस्तीफे के बाद गहलोत कैबिनेट में 12 मंत्रीपद रिक्त हो गए हैं. गहलोत के नए कैबिनेट में सचिन पायलट के खेमे के अलावा निर्दलीय और बसपा से आए MLA भी मंत्री बनाए जाएंगे.

अपने खिलाफ स्थिति जाते देख प्रतिक्रिया देती है भाजपा सरकार, कानून वापसी इसी का नतीजा - उमर अब्दुल्ला

चारा घोटाला: 23 नवंबर को CBI की स्पेशल कोर्ट में पेश होंगे लालू यादव

'प्रधानमंत्री की बात पर विश्वास नहीं, ये बड़े दुःख की बात...', विपक्ष के संदेह पर बोले सीएम खट्टर

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -