कैप्टन को बदलने के लिए पंजाब के 79 में से 78 विधयकों ने लिखा था पत्र- सुरजेवाला का दावा

नई दिल्ली: पंजाब के पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर के कांग्रेस छोड़ने के बाद पार्टी महासचिव रणदीप सुरजेवाला ने उन पर हमला बोला है. शनिवार को सुरजेवाला ने दावा किया है कि पार्टी के विधायकों के कहने पर कैप्टन अमरिंदर सिंह को बदलने का निर्णय लिया गया था. सुरजेवाला ने आगे कहा कि पार्टी ने अपने स्तर पर निर्णय नहीं लिया, बल्कि पंजाब के 78 विधायकों ने सीएम बदलने के लिए लिखित में दिया था. 

सुरजेवाला ने आगे कहा कि, यदि सीएम नहीं बदलते तो कहा जाता कि कांग्रेस तानाशाह है, एक ओर 78 विधायक और दूसरी ओर अकेला सीएम, इसलिए पार्टी को यह फैसला लेना पड़ा. सुरजेवाला शनिवार को कांग्रेस हेडक्वार्टर में पत्रकारों से बात कर रहे थे. इस दौरान वे जी-23 और हरियाणा कांग्रेस में गुटबाजी के सवालों से बचते हुए दिखाई दिए. सुरजेवाला ने कहा, कांग्रेस ने पंजाब में अनुसूचित जाति वर्ग के बेटे चरणजीत चन्नी को सीएम नियुक्त कर मिसाल पेश की है.

सुरजेवाला ने सवाल करते हुए कहा कि भाजपा 15 राज्यों में सत्ता पर आसीन है, पर क्या उसने एक भी अनुसूचित जाति वर्ग के व्यक्ति को सीएम बनाया है? जब कांग्रेस ने मिसाल पेश की है तो भाजपा को दिक्कत क्यों हो रही है. भाजपा ने तीन राज्यों में 5 सीएम बदल दिए, तब किसी ने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से सवाल नहीं किया कि क्यों बदला? यहां तक कि पीएम नरेंद्र मोदी ने दिग्गज नेता बीएस येदियुरप्पा को भी नहीं छोड़ा, लेकिन उनसे कोई सवाल नहीं किए गए.

'भाजपा का कार्टून बनाने के लिए तैयार है जनता...', अपना कार्टून देख भड़के अखिलेश यादव

ढीले पड़े सिद्धू के तेवर, बोले- पद मिले या ना मिले, राहुल-प्रियंका के साथ खड़ा रहूँगा

'छत्तीसगढ़ कभी पंजाब नहीं बन सकता..', सत्ता परिवर्तन की आहटों पर बोले सीएम बघेल

 

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -