CA बनने के लिए क्लियर करना होती है ये 3 एग्जाम

CA का पूरा नाम 'चार्टर्ड अकाउंटेंट' है। CA का काम कंपनियों के हिसाब-किताब की जांच करना होता है। CA Accountant के तौर पर काम करते है। यह फाइनेंस सेक्टर के सेक्टर में एक प्रोफेशनल डेसिग्नेशन है। एक CA एक उच्च योग्य प्रोफेशनल है जो की फाइनेंसियल दिक्कतों के Taxation के हिसाब-किताब की जांच करता है। भारत मे चार्टर्ड एकाउंटेंट्स ऑफ़ इंडिया ICAI इंस्टिट्यूट नेशनल प्रोफेशनल एकाउंटिंग आर्गेनाइजेशन है जो लागत तथा Management Accountancy के पेशे को नियंत्रित करता है। वही CA हमारे देश में बहुत प्रतिष्ठा भरा करियर है। ICAI एक Governing Body है जो CA के एग्जाम कंडक्ट कराती है। इंस्टिट्यूट के फाइनल एग्जाम क्लियर करने वाले उम्मीदवारों को इंडस्ट्री में क्वालिफाइड चार्टर्ड अकाउंटेंट (CA) के तौर पर अच्छी नौकरी प्राप्त हो जाती है। CA करने के लिए आपको तीन एग्जाम क्लियर करने होंगे जैसे की-

CPT Exam
IPCC Exam
FC Exam

CPT एग्जाम:-
CA में करियर बनाने के लिए आपका आरम्भ Common Proficiency Test CPT से होता है जिसे पास करने के पश्चात् ही आप अपने लक्ष्य के प्रथम पड़ाव को पार कर दूसरे पड़ाव पर पहुंच जाते है। इसमें 4 विषय जैसे- Accounting, Mercantile Law, General Economics एवं Quantitative Aptitude को सम्मिलित किया जाता है।

IPCC एग्जाम:-
IPCC में Accounting, Business तथा Company Law, Ethics and Communication, Cast Accounting एवं फाइनेंसियल मैनेजमेंट, टैक्सेशन, एडवांस एकाउंटिंग, IT and Strategic Management आदि विषयों को सम्मिलित किया गया है। CPT Clear हो जाने के पश्चात् विद्यार्थी IPCC का एग्जाम दे सकता है। इसके लिए आपको 9 माह की तैयारी का समय प्राप्त होता है। IPCC Exam क्लियर करने के पश्चात् आपको को एक CA के अंडर में Intern के तौर पर काम करना होता है। फाइनल एग्जाम के लिए योग्य होने से पहले आपको को तीन वर्ष तक यह इंटर्नशिप करनी होती है।

FC एग्जाम:-
FC Exam CA Course का सबसे आखिरी चरण है। इसे विद्यार्थियों को फाइनेंसियल रिपोर्टिंग, ऑडिटिंग, प्रोफेशनल एथिक्स, टैक्सेशन, कॉर्पोरेट लॉ, सिस्टम कण्ट्रोल, स्ट्रेटेजिक फाइनेंस, और एडवांस मैनेजमेंट एकाउंटेंसी के बारे में जानकारी दी जाती है। फाइनल कोर्स पूरा करने के साथ ही विद्यार्थियों को जनरल मैनेजमेंट एंड कम्युनिकेशन स्किल्स (GMCS) कोर्स भी पूरा करना होता है। यह एग्जाम दो Groups तथा 8 Papers में होती है। सभी एक्साम्स पास करने के पश्चात् छात्रों को ICAI में मेम्बरशिप के लिए आवेदन करना होता है।

CA करने के पश्चात् नौकरी एवं वेतन:-
CA को घरेलू कम्पनीज में प्रोफेशनल्स को जूनियर लेवल पर 15,000-20,000 रुपए प्रतिमाह और सीनियर लेवल पर 30,000-35,000 रुपए प्रतिमाह प्राप्त होता है। दो तीन साल का एक्सपीरियंस होने पर यही राशि 55,000-60,000 रुपए प्रतिमाह के लगभग पहुंच जाती है। फॉरेन कम्पनीज इन्हें लाखों के पैकेज पर रख रही हैं अनुभव बढ़ने के साथ-साथ इनका वेतन बढ़ता जाता है।

शिल्पा शेट्टी करेंगी नयी शुरुआत, पोस्ट कर किया इशारा

Citroen e-C4 इलेक्ट्रिक कारें इस महीने की जा सकती है लॉन्च

एमी जैक्सन ने बेटे के 2 वर्ष पूरे करने पर शेयर की तस्वीर, फैंस ने लगाई कमेंट की लाइन

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -