हत्या, आगज़नी, सामूहिक बलात्कार, मूर्तियों को पैरों तले रौंदा ... बंगाल में 'खुनी खेला' शुरू

May 04 2021 12:05 PM
हत्या, आगज़नी, सामूहिक बलात्कार, मूर्तियों को पैरों तले रौंदा ... बंगाल में 'खुनी खेला' शुरू

कोलकाता: पश्चिम बंगाल में गत रविवार को हुई मतगणना में तृणमूल कांग्रेस (TMC) की प्रचंड जीत के साथ ही सत्तारूढ़ दल के गुंडों पर हिंसा के आरोप लग रहे हैं। भाजपा कार्यालयों में आग लगाने, कार्यकर्ताओं की हत्या करने, उनके घरों को तहस-नहस करने की कई खबरें मीडिया में आ चुकी है। भाजपा ने अपनी 2 महिला पोल एजेंट के साथ सामूहिक दुष्कर्म किए जाने का भी दावा किया है। ‘अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP)’ ने भी अपने कार्यालयों और कार्यकर्ताओं को निशाना बनाने के आरोप TMC के गुंडों पर लगाए हैं।

 

आरोप है कि कोलकाता में स्थित ABVP के कार्यालय में TMC कार्यकर्ता घुस गए और उन्होंने वहाँ जमकर तोड़फोड़ मचाई। इसके साथ ही वहाँ उपस्थित कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट भी हुई। ABVP ने ये भी आरोप लगाया है कि TMC के गुंडों ने जान-बूझकर माँ काली और भगवान हनुमान की मूर्तियों को क्षति पहुंचाई। ABVP की महामंत्री निधि त्रिपाठी ने कहा कि जिन्होंने भी ममता बनर्जी के खिलाफ आवाज़ उठाई थी, उनका खून बहाया जा रहा है। उनका कहना है कि कोलकाता में ABVP के प्रान्त कार्यालय में 150 की तादाद में TMC के गुंडे नारेबाजी और हूटिंग करते हुए आए, जिन्होंने जमकर उत्पात मचाया। इसके बाद सोमवार को दोपहर में 15-20 गुंडे अंदर घुस गए और कार्यालय में मौजूद पदाधिकारियों के साथ गाली-गलौज व मारपीट की। दफ्तर में लगी श्यामा प्रसाद मुखर्जी, सुभाष चंद्र बोस और रवीन्द्रनाथ टैगोर की तस्वीरों को तोड़ दिया गया।

 

निधि त्रिपाठी के मुताबिक, माँ काली और भगवान हनुमान की मूर्तियों को नीचे गिरा कर उन्हें पैरों से रौंदा भी गया। उन्होंने कहा कि 100 के लगभग गुंडे ABVP के दफ्तर को घेर कर खड़े थे। उन्होंने बताया कि TMC के गुंडे ये कहते हुए हमला कर रहे थे कि जिन्होंने ममता दीदी के चेहरे पर कालिख पोती है और उनके खिलाफ आवाज़ उठाई है, उन्हें हम बंगाल में नहीं रहने देंगे। उन्होंने कहा कि बदला लेने पर आमादा TMC वाले खून बहा रहे हैं। बता दें कि TMC पर हिंसा का आरोप लगाने वालों में सिर्फ भाजपा ही नहीं, बल्कि वामपंथी नेता भी शामिल हैं। 

 

CPI(M) के दिग्गज नेता सीताराम येचुरी ने भी कहा कि TMC जिस प्रकार हिंसा कर अपनी जीत का जश्न मना रही है, वो निंदनीय है।  वहीं, ननूर से भाजपा की दो पोलिंग एजेंट्स के साथ सामूहिक दुष्कर्म की खबर सामने आई है। JNU छात्र संघ की अध्यक्ष आइशी घोष ने कहा कि तृणमूल कांग्रेस को जनादेश स्वीकार करना चाहिए और ये जनादेश उन्हे जनता की सेवा के लिए मिला है, हिंसा के लिए नहीं। उन्होंने कहा कि ममता बनर्जी के कार्यकर्ता विपक्षी दलों के कार्यकर्ताओं के घरों पर हमले कर रहे हैं, जिसे बिलकुल बर्दाश्त नहीं किया जा सकता।

सीएम योगी का बड़ा फैसला- मीडियकर्मियों को मुफ्त में लगेगी वैक्सीन, बनेंगे अलग सेंटर

क्या एक बार फिर कोरोना की तरह चीन फिर से कर रहा है किसी बड़ी तबाही की साजिश

पंजाब में मिनी लॉकडाउन पर बोले AAP अध्यक्ष भगवंत मान- राज्य सरकार रखे लोगों की जरूरतों का ख्याल...