लेफ्ट के नेताओं को काटकर गंगा में बहाने की चली बात!

पश्चिम बंगाल। देश की राजनीति नए तरह की बयानी करवट ले रही है। नेताओं द्वारा आमतौर पर बड़बोलापन प्रदर्शित किया जाता है। मगर अब नेता एक दूसरे पर शब्द बाण चलाने की बाजाय खुलेआम एक दूसरे को मारने की बात करने लगे हैं। हाल ही में तृणमूल कांग्रेस के नेता अनुब्रत मंडल ने कहा कि नेताओं ने विवादित बयान दिया है। बीरभूमि से अनुब्रत तृणमूल कांग्रेस के नेता हैं। यही नहीं उन्होंने वाम दलों को चेतावनी देते हुए कहा है कि वे नेताओं को गंगा में बहा देंगे। 

इस मामले में यह बात कही कि तृणमूल की ओर से किसी तरह का बयान नहीं दिया गया है। वर्धमान कस्बे में 45 किलोमीटर दूसर औसग्राम में पिचखुरी स्कूल के मौदान में पार्टी के कार्यकर्ताओं को संबोधित कर कहा कि सीपीआई - एम नेता राजनीति करें तो ईमानदारी से करें। उन्होंने कहा कि पीछे से ईंट न फैंके और हम भी तुम्हारी छाती में कभी तीर नहीं मारेंगे। मामले में यह कहा गया कि इस मामले में उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में जो लेफ्ट के नेता हैं उन्हें पीटकर गंगा नदी में बहा दो।

अनुब्रत मंडल द्वारा कहा गया है कि वर्ष 2013 में बीरभूमि जिले में सभा को संबोधित करते हुए कहा गया कि सीपीएम नेताओं ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के होर्डिंग्स को नुकसान पहुंचाया। इस तरह का प्रयास किया गया है कि उनके प्रचार में कोई काम न हो सके। साथ ही सरकारी योजनाओं को भी लोगों तक पहुंचने से रोकने के प्रयास किए जा रहे हैं। 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -