त्रिपुरा के लोगों को भाजपा पर भरोसा है: दिलीप घोष

कोलकाता: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने आज यानी रविवार को यह बयान दिया है कि, 'त्रिपुरा नगर निकाय चुनाव के परिणामों ने पूर्वोत्तर राज्य में पैठ जमाने के तृणमूल कांग्रेस के दावों के ''खोखलेपन'' को उजागर कर दिया है और राज्य के लोगों को भाजपा पर भरोसा है।' जी दरअसल आज ही में भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष दिलीप घोष ने संवाददाताओं से बातचीत की। इस बातचीत के दौरान त्रिपुरा में चुनाव प्रचार करने वाले तृणमूल कार्यकर्ताओं को ''किराए के लोग'' बताया और कहा कि भाजपा और राज्य के लोगों के बीच ''मजबूत संबंध'' हैं।

इसी के साथ उन्होंने यह भी कहा कि, 'तृणमूल त्रिपुरा में अपना खाता तब तक नहीं खोल सकती जब तक भाजपा किसी सीट से उम्मीदवार नहीं उतारने का फैसला न कर ले।' आगे उन्होंने कहा, ''नगर निकाय चुनाव के परिणाम उम्मीद के अनुसार आए हैं। तृणमूल का त्रिपुरा में खाता खुलने का कोई आसार नहीं है। उन्होंने केवल शोर मचाया। यह फैसला दर्शाता है कि पश्चिम बंगाल से आए किराए के लोग ऐसे राज्य में किसी पार्टी को अपना आधार बनाने में मदद नहीं कर सकते, जिसका भाजपा पर भरोसा है।''

आप सभी को बता दें कि त्रिपुरा में आमबासा नगर निकाय की 15 में से 12 सीट पर BJP जीती है। वहीं TMC-CPM को मात्र 1-1 सीट मिली है। वहीं त्रिपुरा की 334 सीटों में से 112 सीटों पर बीजेपी निर्विरोध पहले ही जीत चुकी है। 

ऐसे में त्रिपुरा नगर निकाय चुनावों में बीजेपी की बढ़त जारी है। आपको बता दें कि त्रिपुरा की 13 लोकल बॉडी में बीजेपी आगे चल रही है। जी दरअसल त्रिपुरा में कुल 20 लोकल बॉडी है, जिसमें से 7 पर बीजेपी पहले ही निर्विरोध जीत चुकी है। इसी के साथ अगरतला नगर निगम में भी बीजेपी सभी 51 सीटों पर आगे चल रही है।

त्रिपुरा में सरफिरे व्यक्ति ने 2 बेटियों समेत 5 लोगों को उतारा मौत के घाट

मिजोरम-म्यांमार सीमा पर 6।1 तीव्रता का भूकंप

'CAPF की दो कंपनियां तुरंत भेजें त्रिपुरा, मीडिया कवरेज की दें इजाजत': सुप्रीम कोर्ट

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -