कही आप तो नहीं करते ऐसे लंच?

कही आप तो नहीं करते ऐसे लंच?

आज के युग में समय बहुत कीमती हो गया है और हम वक्त की कमी के कारण लंच को पर्याप्त समय नहीं दे पाते, लेकिन इतनी भी जल्दबाजी ठीक नहीं है क्योंकि ऐसा करने से डायबिटीज और ब्लडप्रेशर के अलावा कोलेस्ट्रॉल भी बढ़ सकता है। ऑफिस हो या घर कही भी हमें देखने को मिलता है लोग इतनी जल्दबाजी करते है की वो लंच के साथ लड़ाई कर रहे हों। लंच करने से हम हेल्दी रहते है, लेकिन लंच के साथ जुड़ी हमारी कुछ बुरी आदतें हमें हेल्दी रखने के बजाय बीमार कर देती हैं। इसलिए लंच आराम से करिये और फिट और हेल्दी रहिए।

घर, ऑफिस में जल्दी-जल्दी लंच करने की यह आदत कई तरह की परेशानी कड़ी कर सकती है। इससे पेट में दर्द, सूजन जबड़े का कमजोर होनी जैसी समस्या हो सकती है। जल्दी लंच करने से पेट पर दबाव भी अधिक पड़ता है। जब हम खाना खाते उस समय हमारे शरीर का 40 प्रतिशत ब्लड पाचनतंत्र से होकर जाता है और पोषक तत्वों को अवशोषित कर शरीर के अन्य भागो तक ले जाता है। यदि आप लंच करते समय बोलते है तो यह प्रकिया प्रभावित हो जाती है जिससे इसका असर लीवर पर पड़ता है।

इसलिए खाते वक्त बात न करे। खाना खाते समय हम भोजन को चबाते काम है और निगलने में ज्यादा जल्दबाजी करते है। ऐसा करने से अपच की समस्या पैदा होती है। ज्यादा भोजन चबाने से जल्दी पाचन होता है और पाचनतंत्र भी सही रहता है। जल्दी-जल्दी भोजन खाने से पेट पर दबाव अधिक पड़ता है। लंच में ज्यादा मसालेदार या खट्टे फल या तला-भुना अधिक लेने से अल्सर जैसी समस्या हो सकती है। यदि आप लंच में फास्ट फूड खाते है तो आपको बता दे आप ऐसा करने से आलसी बन सकते है।

फास्ट फूड के सेवन से लीवर संबंधी समस्या हो सकती है। वहीं यह शरीर में पचने में भी समय लगाते है। लंच के समय कोल्ड ड्रिंक या एनर्जी ड्रिंक लेना या कैफीन युक्त ड्रिंक लेना आपको तनावग्रस्त बनाता है। लंच करते समय आप यदि बात करते है तो आपकी सांस नली भी प्रभावित होती है और खाना उसके अंदर भी जा सकता है।