कामकाजी महिलाये कैसे संभालें घर और ऑफिस

कामकाजी महिलाये कैसे संभालें घर और ऑफिस

आज के प्रतिस्पर्दी युग में जंहा महँगाई अपने चरम पर है, और ज़रूरते ज़्यादा, तब घर की अतिरिक्त जिम्मेदारी और आर्थिक ज़रूरतों को पूरा करने के लिये महिलाओं को घर से बहार निकालकर नौकरी पेशा बनना पड़ता है | पर घर और बाहर की दोहरी ज़िमेदारी को निभाना किसी चुनोती से कम नहीं, वो भी खासतौर पर तब जब आपके छोटे बच्चे हो|कामकाजी महिलाओं को हमेशा ऑफिस और बच्चों की जिम्मेदारियों के बीच तालमेल बिठाने में मुश्किल होती है। अगर वो बच्चों का ध्यान रखती है तो ऑफिस के काम छूटने लगते हैं और अगर ऑफिस के काम को तवज्जों दें तो बच्चों को पर्याप्त समय नहीं दे पाती हैं। 

आइये जाने घर बहार की जिमेदारियों को कैसे संभाला जाये :- 

1 प्राथमिकता तय करें,यदि आपकी प्राथमिकता सूची में सबसे ऊपर बच्चा है तो फिर इस बात पर विचार करें कि बच्चे की देखभाल के बारे में आप किन-किन चीजों पर ध्यान देंगी और किस सीमा तक उसके साथ समझौता कर सकती हैं|

2 आप नेचर ऑफ़ वर्क का चुनाव सोच समझकर करे, अपने काम के घंटे को अपेक्षाकृत कम और दफ्तर का समय थोड़ा लचीला हो इस बात पर ध्यान दें । यदि इस तरह की सुविधा और स्वतंत्रता आपको मिलती है तो आप बहुत इत्मीनान से दोनों के बीच संतुलन बना सकती हैं|

3 कामकाजी महिलाओं को प्लानिंग के साथ काम करना आना चाहिए। अपने हर काम की योजना बनाएं जिससे आपका समय बर्बाद न हो और न ही आप पर दबाव बने।

4 मद्दत लेने से न हिचके, घर के कामों में पति की या अन्य किसी की मदद ले, इससे आप धीरे धीरे सारे काम को व्यवस्थित तरिके से कम समय में पूरा कर पाएंगी| 

5 ऑफिस में भी लगातार काम न करें। कुछ  देर अपने सहकर्मियों के साथ चॉय-कॉफी पिएं और बातें करें। इससे आपका तनाव कम होगा।

6 आजकल बाजार में कई नयी टेक्नीक उपलब्ध हैं जो खास कर कामकाजी मां को ख्याल में रखकर बनायी गई है। ये चीजें आपके काम को कम करने, बच्चो की देखरेख करेने, समय पर दवाई ,सब्जी,दूध, जरूरी बिल, स्वास्थ  आदि के बारे में आपको उचित समय सूचना एवम सलाह देता है |  इनके प्रयोग से आपका समय भी बर्बाद नहीं होता और आप व्यस्तता के बीच भी वस्तु और समय पर पूर्ण नियंत्रण कर पाएंगी|