अगर आपके अंदर टैलेंट भरा तो, इस लोकप्रिय ऐप का करें इस्तेमाल

अगर आपके अंदर टैलेंट भरा तो, इस लोकप्रिय ऐप का करें इस्तेमाल

रोजमर्रा के जीवन को एप्स ने आसान बना दिया है. हालांकि, ऑनलाइन सेफ्टी आज भी हर किसी के लिए एक बड़ा विषय बना हुआ है. ऐसे में एप्स चलाने वाली कंपनियों को अपने स्तर पर यूजर्स के लिए साफ और सुरक्षित माहौल तैयार करना चाहिए ताकि उन्हें बेहतर अनुभव मिल सके. इसके लिए TikTok ने काम करना शुरू कर दिया है. इसके एप में मौजूद फीचर्स न केवल यूजर्स को सुरक्षा का एहसास दिलाते हैं, बल्कि बेहतर अनुभव भी देते हैं. इसके अलावा TikTok इंटरनेट सेफ्टी के लिए #SafeHumSafeInternet के नाम से अभियान भी चला रहा है. इस अभियान का मकसद है कि इंटरनेट यूजर अपनी जिम्मेदारी को समझें और किसी भी हिंसक और अश्लील वीडियो को साझा न करें व TikTok जैसे एप को साफ सुथरा बनाए रखें. आइए जानते है पूरी जानकारी विस्तार से 

आपकी जानकारी के लिए बता दे​ कि TikTok को ही लीजिए जो एक सोशल मीडिया एप है. इस एप के जरिए लोग अपने शौक को पूरा कर रहे हैं. इसने बहुत ही कम समय में करोड़ों यूजर्स के लिए दिलों में अपनी जगह बनाई है। शायद ही ऐसा कोई व्यक्ति होगा जिसके स्मार्टफोन में TikTok एप इंस्टॉल न हो। एक आंकड़े के मुताबिक TikTok एप भारत में सबसे ज्यादा डाउनलोड किए जाने वाले ऐप्स में से एक है। भारत में TikTok के डाउनलोड का आंकड़ा 200 मिलियन से ज्यादा है।

क्या है इस एप की खासियत? : एक व्यक्ति के अंदर कोई न कोई टैलेंट जरूर छुपा होता है, उसी टैलेंट को समाज के सामने लाने का काम करता है TikTok एप. आप देश के किसी भी कोने में हैं, यदि आपके पास स्मार्टफोन और उसमें इंटरनेट है, तो आप बेजिझक अपना टैलेंट या क्रिएटिविटी दिखाइए. TikTok आपको फेमस होने का पूरा मौका देगा. इसके लिए आपको अपने स्मार्टफोन से एक शॉर्ट वीडियो बनाना होगा और उसे TikTok एप पर अपलोड करना होगा. यह इतना आसान एप है कि इसमें आपको एडिट या अपलोड करने की दिक्क्त नहीं आती है.

TikTok के सेफ्टी फीचर्स :TikTok एक ऑनलाइन एप्लीकेशन है, ऐसे में इसका गलत इस्तेमाल करने वाले भी हैं. ये वो लोग हैं जो हिंसक और अश्लील वीडियो बनाकर समाज को दूषित और भ्रमित करना चाहते हैं. बता दें कि कम्युनिटी गाइडलाइन के जरिए TikTok का ऐसे लोगों पर पूरी तरह से लगाम है. इसके लिए उन्होंने एक टीम भी बनाई है. इस टीम के सदस्य तकनीकी तौर पर माहिर हैं और अलग-अलग भाषाओं के जानकार भी हैं, जो सक्रिय तरीके से 24 घंटे और सातों दिन गलत और नाजायज सामग्री की छंटाई करते हैं. बता दें इस टीम ने अब तक लाखों वीडियो को डिलीट किया है, साथ ही कुछ अकाउंट को भी सस्पेंड किया है.

वैसे सवाल यूजर्स की पहचान और उसके कंटेंट की सेफ्टी की भी है. वहां भी TikTok ने कोई कोताही नहीं बरती है. इसलिए अपने प्लेटफॉर्म को सुरक्षित रखने के लिए TikTok के एप में कई बेहतरीन फीचर्स हैं. ये फीचर्स एप इस्तेमाल करते समय यूजर्स को साफ व सुरक्षित माहौल देते हैं और उनके भय को दूर करते हैं। आइए उसी के बारे में जानते हैं –

ऐज गेट : इस फीचर के नाम से ही पता चल रहा है कि TikTok का इस्तेमाल करने के लिए उम्र सीमा निर्धारित की गई है. इसका मतलब यह हुआ कि कम उम्र या बच्चों को TikTok से दूर रखने के लिए ऐज गेट की सुविधा दी गई है. अगर आपकी उम्र 13 साल या उससे अधिक है तो आप TikTok पर अपना अकाउंट बना सकते हैं.

रिस्ट्रिक्टेड मोड : यह एक ऐसा फीचर है जिसे ऑन करके कम उम्र के यूजर्स के लिए अनुपयुक्त वीडियो या सामग्रियों को प्रतिबंधित किया जा सकता है. इस सुविधा को एक पासवर्ड के माध्यम से सक्रिय किया जाता है जो 30 दिनों तक वैलिड रहता है. इस तरह आप इस फीचर्स के माध्यम से बच्चों के लिए जरूरी वीडियो उपलब्ध करा पाएंगे.

डिवाइस मैनेजमेंट : इस फीचर के जरिए भारतीय यूजर्स का अपने अकाउंट पर पूरी तरह से कंट्रोल रहेगा. यूजर्स अपने अकाउंट की सेफ्टी को बनाए रखने के लिए TikTok ऐप के सेशन को खत्म कर सकेंगे, साथ ही दूसरे डिवाइसेज से भी अकाउंट को रिमूव कर पाएंगे. इस तरह इस फीचर के आने से यूजर्स को अपने अकाउंट के दुरुपयोग होने से बचाने में मदद मिलेगी.

स्क्रीन टाइम मैनेजमेंट :TikTok का इस्तेमाल करते समय कई बार हमें समय का पता नहीं चलता और हम लगातार इसे कई-कई घंटे तक इस्तेमाल करते रहते हैं. ऐसे में स्क्रीन टाइम मैनेजमेंट आपकी पूरी मदद कर सकता है. इसके माध्यम से माता-पिता के साथ-साथ यूजर्स को एप पर समय बिताने के लिए 40, 60, 90 या 120 मिनट की समय सीमा निर्धारित करने की सुविधा मिलती है. यदि आप निर्धारित समय सीमा तक पहुंचने के बाद TikTok का इस्तेमाल करना जारी रखते हैं, तो आपको पासकोड दर्ज करना होगा.


TikTok ने अपने फीचर्स में रिस्क वॉर्निंग टैग को भी शामिल किया है. इस फीचर के जरिए TikTok खतरनाक और एडवेंचर एक्टिविटीज वाले वीडियो पर टैग लगाता है. इस टैग के साथ उस वीडियो की नकल ना करने की सलाह भी दी जाती है.


इस फीचर का इस्तेमाल करके यूजर्स एप पर आने वाले उन कमेंट्स को मैनेज कर सकते हैं, जिन्हें वह अनुचित मानते हैं. इसमें यूजर्स हिंदी और अंग्रेजी में 30 कीवर्ड तक चुन सकते हैं और अपनी इच्छानुसार संशोधित कर सकते हैं, जो स्वयं फिल्टर भी होगा.इस फीचर की मदद से TikTok अपने यूजर्स को ऑनलाइन सेफ्टी को लेकर जागरूक बनाता है. इसके लिए वह 10 भाषाओं (अंग्रेजी, हिंदी, तमिल, मराठी, बंगाली, पंजाबी, गुजराती, उडिया, तेलगु, कन्नड, मलयालम) में कई तरह की जानकारी और दिशानिर्देश भी देता है.

TikTok अपनी प्रतिभा को दिखाने का बहुत ही अच्छा मंच है. यह एप उन गांवों और छोटे शहरों के लिए एक बेस्ट एप है, जहां की प्रतिभा और क्रिएटिविटी लोगों के सामने नहीं आती है. यदि आपके अंदर टैलेंट है या फिर कोई शौक जिसे आप समाज के सामने लाना चाहते हैं तो TikTok से अच्छा साफ और सुरक्षित प्लेटफॉर्म आपको नहीं मिलेगा. इस बात को राष्ट्रीय कौशल विकास निगम (NSDC) जैसी बड़ी संस्था भी मानती है. एक सहयोग के तहत राष्ट्रीय कौशल विकास निगम TikTok के मंच का लाभ उठाना चाहती है और अपने सरकार द्वारा संचालित कौशल विकास कार्यक्रमों और व्यावसायिक प्रशिक्षण के अवसरों के बारे में एप के यूजर्स को शिक्षित करना चाहती है.