कोरोना के बढ़ते केसों के बीच पूरम में श्रद्धालुओं की एंट्री पर लगा प्रतिबंध

Apr 20 2021 08:46 AM
कोरोना के बढ़ते केसों के बीच पूरम में श्रद्धालुओं की एंट्री पर लगा प्रतिबंध

केरल में रोजाना बढ़ रहे कोविड केसों के मध्य केरल सरकार ने एलान किया है कि लोकप्रिय त्रिशूर पूरम फेस्टिवल का 23 अप्रैल को कड़े प्रतिबंधों के साथ आयोजन करने वाले है। जिला कलेक्टर एस। शानावस ने पुष्टि की, इस वर्ष किसी भी वार्षिक मंदिर उत्सव में आम जनता को प्रवेश की इजाजत नहीं दी जाने वाली है, क्योंकि ऐसे उत्सवों में आमतौर पर राज्य के साथ-साथ देश भर से भारी भीड़ आती है। उन्होंने बोला कि केवल त्यौहार आयोजकों और मीडिया स्टाफ को ही प्रवेश की इजाजत होने वाली है। बशर्ते कि उनके पास कोविड की नेगेटिव टेस्ट रिपोर्ट और कोविड वैक्सीन की दोनों डोज लेने वाला सर्टिफिकेट होने वाले है। मालूम हो कि 2020 में भी कोरोना महामारी की वजह से त्रिशूर पूरम को कम अनुष्ठानों के साथ आयोजित  करने वाले थे और आम जनता के आयोजन में शामिल होने पर प्रतिबंध लगा दिया गया था।

हर साल 20 लाख से ज्यादा लोग होते हैं शामिल: जंहा इस बात का पता चला है कि त्रिशूर पूरम केरल में हर साल आयोजित किया जाने वाला है सबसे बड़ा हिंदू त्योहार है और विभिन्न जिलों से कम से कम 20 लाख लोग जिसमे शामिल होते हैं। केरल के स्वास्थ्य मंत्री केके शैलजा ने बोला कि त्रिशूर पूरम के आयोजन को रद्द नहीं होने वाला है। क्योंकि जिसके लिए कई सारी तैयारियां की गई हैं। त्रिशूर पूरम के आयोजन के लिए दिशानिर्देश जारी किया गया है।

मुख्य सचिव द्वारा सोमवार को बुलाई गई बैठक में निर्णय लिया गया कि जनता को उत्सव में भाग लेने की अनुमति नहीं दी जाने वाली है। केवल आयोजकों को अनुमति दी जाएगी और उन्हें कोविड नियमों का पालन अवश्य ही कारण होगा। थिरुवमबड़ी और पारेमक्केवु मंदिर के पूरम के मुख्य आयोजक ने पहले कहा था कि पूरम को पूर्ण रूप से आयोजित किया जाना चाहिए। हालांकि सरकार द्वारा प्रतिबंध लगाए जाने के फैसले पर उन्होंने सहमति व्यक्त की।

केरल में कोरोना के 13,644 नए मामले: इस दौरान केरल में सोमवार को कोविड वायरस संक्रमण के 13,644 नए केस सामने आए हैं, इसके उपरांत राज्य में सक्रीय मामले का आंकड़ा एक लाख के पार पहुंच गई है। बीते 24 घंटे में कोविड से 21 मरीजों की मौत हो गई। मौत के नए आंकड़ों के साथ ही अब कोरोना से मरने वालों की संख्या पांच हजार के करीब पहुंच गई है। वहीं इस बात का पता चला है कि केरल में बीते दिन कोरोना से 4,305 लोग ठीक हो गए, जिसके बाद कोरोना से ठीक होने वालों की संख्या राज्य में 11,44,791 हो गई है। कोझिकोड जिले में कोरोना से सबसे ज्यादा 2,022 मामले सामने आए, इसके बाद एर्नाकुलम, मलप्पुरम, त्रिशूर और कन्नूर में एक हजार से ज्यादा मामले सामने आए।

भारत में बढ़ते कोरोना कहर के बीच अमेरिका ने इंडिया की उड़ान न करने का किया अनुरोध

भारत में बदतर होते जा रहे कोरोना से हाल, इस बार आंकड़ा 2 लाख 50 हजार के पार

मनमोहन सिंह ने COVID संकट पर पीएम मोदी को लिखा पत्र