युवाओं ने की माकपा के दफ्तर में तोड़-फोड़

Feb 15 2016 12:05 PM
युवाओं ने की माकपा के दफ्तर में तोड़-फोड़

नई दिल्ली: जेएनयू में हुई देश विरोधी घटना के बाद अब युवकों के एक समूह ने दिल्ली स्थित मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के कार्यालय पर हमला बोल दिया है। पुलिस ने एक युवक को कथित तौर पर तोड़-फोड़ करने के आरोप में गिरफ्तार किया है, जब कि दो अऩ्य ने शाम को आत्म समर्पण कर दिया। पुलिस के अनुसार, माकपा का आरोप है कि बीजेपी व संघ के कार्यकर्ताओं ने माकपा कार्यालय पर पथराव किया है, लेकिन हिरासत में लिए गए युवाओं का दावा है कि वो आम आदमी सेना के कार्यकर्ता है।

दिल्ली के डीसीपी जतिन नरवाल ने बताया कि तीन युवक माकपा के दफ्तर में आए और दीवार पर कालिख पोत दी। इनमें से एक कार्यकर्ता सुशांत खोसला को माकपा के कार्यकर्ताओं ने पकड़ लिया और पुलिस को सौंप दिया। शाम को दो अन्य वेद प्रकाश व रॉकी ने पुलिस को सरेंडर कर दिया।

नरवाल ने बताया कि हिरासत में लिए गए युवाओं का कहना है कि वो आम आधमी सेना के कार्यकर्ता है। डीसीपी नरवाल ने बताया कि अब तक इस मामले में एफआईआर दर्ज नहीं कराई गई है। माकपा के महासचिव सीताराम येचुरी ने कहा कि उन्होने हमारे दफ्तर के बोर्ड पर पाकिस्तान जिंदाबाद जैसे नारे लिखने का भी प्रयास किया।

हमले की निंदा करते हुए येचुरी ने कहा कि महात्मा गांधी की हत्या की साजिश रचने वाला आरएसएस सर्वाधिक धर्मनिरपेक्ष लोकतांत्रिक पार्टी माकपा को राष्ट्रविरोधी बताने का प्रयास कर रहा है। उन्होंने कहा कि हमें गांधी के हत्यारों से देशभक्ति का सर्टिफिकेट नहीं चाहिए। हम इस चुनौती का राजनीतिक रूप से सामना करेंगे।