सिंहस्थ में हो रहे अद्भुत नंदी के दर्शन, त्रिशूल से हैं...?

उज्जैन : मध्यप्रदेश के धार्मिक और पर्यटन नगर उज्जैन में इन दिनों सिंहस्थ 2016 का उत्साह है। बड़े पैमाने पर श्रद्धालु कई तरह की साधनाऐं करने वाले साधु - संतों के दर्शन करने पहुंच रहे हैं। मगर इन बाबाओं के पास भी विचित्र वस्तुऐं हैं। ऐसे ही एक बाबा हैं बुंदेलखंड के छतरपुर के बलदेव महाराज। जी हां, महाराज के पास एक ऐसा नंदी है जो कि तीन सिंगों वाला है।

नंदी के ये सिंग त्रिशूलाकार हैं त्रिशूल के ही ठीक नीचे एक और निशान है जो कि तीसरी आंख की तरह नज़र आता है। खास बात यह है कि यह निशान दोनों आंखों के ठीक बीच में उपर की ओर है। दरअसल 10 वर्ष पूर्व एक किसान की गाय ने बछड़े को जन्म दिया था।

किसान ने बछड़ा अपने पास रखा लेकिन बाद में उसकी उग्रता देखकर किसान उसे बाबा के आश्रम में छोड़ गया। बाबा का कहना है कि नंदी की हुंकार ऊंकार की तरह लगती है। यही नहीं उसकी बाघ से भिड़ंत हो गई थी। बाघ के पंजों से नंदी घायल हो गया था मगर उसने बाघ को भागने पर मजबूर कर दिया। 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -