MP: कोरोना वार्ड की बिजली जाने पर बैकअप हुआ फेल, तीनो मरीजों की मौत

भोपाल: भोपाल के हमीदिया अस्पताल की कोरोना यूनिट की बिजली बीते शुक्रवार रात को चली गई। उसके बाद इमरजेंसी बैकअप का सहारा लिया गया, लेकिन केवल 10 मिनट तक चलने के बाद वह भी बंद हो गया। इस दौरान करीब डेढ़ घंटे से ज्यादा समय तक कोरोना वार्डों की बिजली गायब रही। वहीं इस दौरान वार्ड में भर्ती मरीजों की मशीनें बंद हो गई थीं और देखते ही देखते वार्ड में हल्ला बोल हो गया। इस दौरान हाईफ्लो सपोर्ट पर चल रहे तीन मरीजों की हालत बिगड़ गई।

बताया जा रहा है उन्हें वेंटिलेटर पर लिया गया और सीपीआर भी दिया गया लेकिन, कांग्रेस से दो बार पार्षद रहे 67 वर्षीय अकबर खान की मौत हो गई। वहीं उनके अलावा अन्य दो मरीजों की भी मौत होने की खबर है। इस बारे में बात करते हुए अकबर के भाई मेहबूद ने बताया कि, 'जनरेटर में डीजल नहीं होने से वह चालू नहीं पाया था।' अब अगर अस्पताल से जुड़े सूत्रों को मानें तो शाम 5:48 बजे बिजली चली गई थी। वह दो घंटे बाद करीब 7:45 बजे वापस आई। इस दौरान कोरोना वार्डों में कुल 64 मरीज भर्ती थे और इनमें से 11 गंभीर मरीजों को आईसीयू वार्ड में रखा गया था। वैसे हम आपको यह भी बता दें कि हमीदिया में बिजली बैकअप के लिए जनरेटर लगाए गए हैं। यहाँ मेन सप्लाई कट होने पर बैकअप से ऑटोमेटिक सप्लाई शुरू होने लगती है, लेकिन बीते शुक्रवार को यह बैकअप भी काम नहीं आया। वैसे जानकारी के मुताबिक हमीदिया प्रबंधन इसके रखरखाव और डीजल पर हर साल 10 लाख रुपए रुपए खर्च करता है।

इस बारे में बात करते हुए चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने कहा 'हमीदिया के डीन और अधीक्षक को नोटिस दिया गया है। पीडब्ल्यूडी के इंजीनियर को निलंबित किया है। अस्पताल के पावर बैकअप सिस्टम का सर्टिफिकेशन करने वाले इंजीनियर को भी निलंबित किया और डॉक्टर को नोटिस दिया है।'

किसानों के हित में है कृषि कानून: नितिन गडकरी

गोलगप्पे खाते ही बिगड़ा नेहा कक्कड़ का मुँह, देंखे ये मजेदार वीडियो

भारत में जल्द लॉन्च होगी Realme Watch S Pro और Realme Watch S

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -