सपा की वर्चुअल रैली में उड़ी कोरोना की धज्जियाँ, चुनाव आयोग की रोक के बावजूद जुटे हज़ारों लोग

लखनऊ: कोरोना महामारी की तीसरी लहर के बीच हो रहे उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में संक्रमण की रोकथाम के उपायों पर अमल कराना निर्वाचन आयोग के लिए टेढ़ी खीर साबित हो रहा है। रोक के बाद भी शुक्रवार को लखनऊ स्थित सपा हेडक्वार्टर पर हजारों कार्यकर्ताओं की भीड़ जमा हुई। मौका था, स्‍वामी प्रसाद मौर्य, धर्म सिंह सैनी समेत भाजपा के छह बागी विधायकों के सपा में शामिल होने का। 

इन सभी नेताओं ने पिछले दिनों भाजपा छोड़ दी थी, और आज सपा ज्‍वाइन की है। इस अवसर पर पार्टी की ओर से वर्चुअल रैली का आयोजन किया गया था। वर्चुअल रैली को लेकर पार्टी कार्यकर्ताओं और समर्थकों में काफी उत्साह देखा गया। वैसे आज सुबह से लखनऊ में बहुत चहल-पहल है। सुबह से स्‍वामी प्रसाद मौर्य के आवास पर समर्थकों का जमावड़ा लगने लगा था। ढोल-नगाड़े बज रहे थे। इसी जोश के साथ समर्थक और कार्यकर्ता सपा हेडक्वार्टर पर इकठ्ठा हुए। 

हज़ारों समर्थकों की भीड़ के बीच स्‍वामी प्रसाद मौर्य स्टेज पर पहुंचे। उनके साथ अखिलेश यादव और भाजपा छोड़कर आए MLA भी नज़र ऐ। इन सबने आज सपा का दामन थामा। प्रेस वार्ता से पहले स्‍वामी प्रसाद मौर्य ने कहा कि भाजपा ने देश और प्रदेश के लोगों को भ्रमित किया है। उनको शोषण का शिकार बनाया है। अब भाजपा का खात्‍मा करके यूपी को शोषण से मुक्‍त कराना है। 

यूपी चुनाव में पीएम मोदी ने खुद संभाला मोर्चा, टिकट बंटवारे पर बैठक में हुए शामिल

यूपी चुनाव: क्या अयोध्या में 'मोदी की काशी' जैसा करिश्मा कर पाएंगे योगी आदित्यनाथ ?

फर्म में निवेशकों को गुमराह करने के आरोप में इस कंपनी के संस्थापक को 26 सितंबर को होगी जेल

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -