कोरोना खौफ के बीच अमेरिका के इस शहर में आई बाढ़

वाशिंगटन: एक तरफ दुनियाभर में बढ़ता जा रहा कोरोना का खौफ लोगों के लिए परेशानी बनता जा रहा है. तो दूसरी तरफ घटनाओं का सिलसिला थमने का नाम ही नहीं ले रहा है, हर दिन कोई न कोई ऐसा मामला सामने आ ही जाता है जिसके कारण लोगों के दिल और दिमाग में दहशत बढ़ने लगी है. जंहा इन घटनाओं के चलते लोगों में डर बढ़ा ही जा रहा है. वहीं अमेरिका में कोरोना संकट के बीच एक और संकट की स्थिति बन गई है. यहां के मध्य क्षेत्र मिशिगन में तेज बारिश के कारण बुधवार को दो बांधों के टूटने से बाढ़ की स्थिति बन गई. इसके चलते हजारों लोगों को निचले इलाकों से निकालकर ऊंचे स्थानों पर भेजा गया. इसके साथ ही शहर में नौ फीट तक पानी भरने की चेतावनी भी जारी की गई है. जानकारी के हम बता दें कि मंगलवार को को मिडलैंड काउंटी की टिट्टाबावसी नदी और उससे जुड़ी झीलों के किनारे रहने वाले लोगों को अपने घरों को छोड़ने के लिए कहा गया था. इसके बाद 24 घंटे में यह दूसरी बार है जब करीब 10 हजार से ज्यादा लोगों को इलाके से निकाला गया है. शहर के निचले इलाकों की सड़कें, पार्किंग स्थल और घरों-होटलों में पानी घुस गया.

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार भारी बारिश के चलते डेट्रायट के उत्तर-पश्चिम में लगभग 140 मील की दूरी पर स्थित ईडनविल बांध और सैनफोर्ड बांध टूट गए थे, जिसके चलते कई शहरों में बाढ़ के हालात बन गए. इसके बाद करीब 10 हजार लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया. बांध टूटने से पानी तेजी से शहरों की ओर बढ़ा. राष्ट्रीय मौसम विज्ञान सेवा ने टिट्टाबावसी नदी के पास के इलाकों में बाढ़ की चेतावनी जारी की. सरकार ने भी मिडलैंड काउंटी में आपातकालीन स्थिति की घोषणा की.  गवर्नर व्हिटमर ने कहा कि बांध टूटने से डाउनटाउन मिडलैंड शहर में लगभग 42 हजार लोगों पर खतरा मंडरा रहा है. इसलिए वहां विशेष रूप से गंभीर बाढ़ का खतरा बना हुआ है.

अगले 12 से 15 घंटे के अंदर, मिडलैंड शहर लगभग 9 फीट पानी भरने की आशंका है. रिपोर्ट के मुताबिक, लगातार भारी बारिश से टिट्टाबावसी नदी में जल स्तर 30.5 फीट (9.3 मीटर) से बढ़कर बुधवार सुबह तक 38 फीट (11.6 मीटर) तक आ गया था. बता दें कि ईडनविल बांध का निर्माण सन 1924 में हुआ था. वहीं, सैनफोर्ड बांध का निर्माण 1925 में हुआ था. कोरोना वायरस से जूझ रहे अमेरिका के मिशिगन में बनी बाढ़ की स्थिति के बीच राहत कार्य जारी है. ऐसे में सोशल डिस्टेंसिंग के नियम का पालन मुश्किल हो सकता है. ऐसे में आशंका जताई जा रही है कि कोरोना के हॉटस्पॉट मिशिगन के मिडलैंड काउंटी क्षेत्र में कोरोना के मामले और बढ़ सकते हैं. मिडलैंड में अभी तक कोरोना के केवल 80 मामले सामने थे, जिनमें से 10 लोगों की मौत हो गई थी. वहीं पूरे मिशिगन में कोरोना के करीब 52 हजार से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं और इनमें से 5 हजार लोगों की मौत हो चुकी है.

अमेरिका में बढ़ा कोरोना का खौफ, 24 घंटों में 1500 से अधिक मौत

क्या ऊदबिलाव से फैला था नया प्रकार का कोरोना वायरस ?

कोरोना संकट के बीच रद्द हुई इंग्लैण्ड के खिलाड़ियों की ट्रेनिंग

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -