अनोखी तरकीब से खुलते है इस महिला के घर के दरवाजे

अली बाबा चालीस चोर यह फिल्म तो आप सभी ने देखी होगी। आपको याद हो तो उसमे खजाने का दरवाजा खुल जा सिम सिम कहने पर ही खुलता था। ऐसा ही कुछ किस्सा है इन मैडमजी का।

दुनियाभर में साइंटिस्ट कई ऐसी तरकीबे बना चुके है जिससे आप और हम अनजान नहीं है। लेकिन अब आपको हैरान होना पड़ेगा क्योंकि वैज्ञानिको ने एक ऐसी तकनीक निकाली है जिससे आपको अपने घर को चाबी से खोलने की जरूरत नहीं है।

सिडनी में रहने वाली शांति कोरपोरल ने एक ऐसी टेक्नोलॉजी के जरिए अपने हाथो में माइक्रोचिप इम्प्लांट करवा ली है, जिससे वो अब अपने घर के दरवाजो को बिना किसी चाबी की मदद से खोल लेती है। इतना ही नहीं वो बिना पासवर्ड के अपने कम्प्यूटर को एक्सेस कर सकती है। शांति अपने हाथो को सुपरह्यूमन पॉवर की तरह उपयोग करती है। ताकि वह एक अच्छी ज़िन्दगी बिता सके।

शांति का कहना यह है - मुझे ऐसी ज़िन्दगी चाहिए जिसमे मुझे किसी पासवर्ड को याद रखने की झंझट न रहे। वे बताती है कि opal के साथ आपको एक यूनिक आइडेंटिफिकेशन नंबर मिलेगा जिसे एक चिप के अंदर प्रोग्राम कर दिया जाएगा। इसके माध्यम से एक दरवाजा जो स्वाइप कार्ड से खुलता है या आपका कम्प्यूटर आदि सब आपके हाथो के इशारे पर खुलने लगेंगे। यह चिप एक चावल के दाने के समान होती है। इस माइक्रोचिप को कई तरह की इन्फॉर्मेशन स्टोर करने के लिए एक स्मार्टफोन्स की तरह उपयोग कर सकते है।

इस गोलगप्पे वाले को लडकियां पेटीएम से करती है पेमेंट

शेर शेरनी की राजसी शादी में काट गया 22 पौंड मीट का केक

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -