इस चायवाले की कहानी सुन आप भी होंगे प्रेरित

कट्टक/उड़ीसा. वैसे तो 58 वर्षीय प्रकाश राव एक साधारण से चायवालें हैं. लेकिन यह जो कार्य करते हैं वो बिलकुल भी साधारण नहीं हैं. प्रकाश जी पिछले 14 सालों से अपनी कमाई का आधा हिस्सा स्लम में एक स्कूल चलाने के लिए दान करते आ रहे हैं. दरअसल यह स्कूल उन्होंने ही गरीब बच्चो को पढ़ाने के लिए खोली हैं.

प्रकाश जी बचपन में अपने परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक ना होने के कारण पढ़ाई पूरी नहीं कर सके थे. हालत ने उन्हें 7 साल की उम्र में ही चायवाला बनने पर मजबूर कर दिया था. दूसरे बच्चों के साथ ऐसा ना हो इसी इरादे से प्रकाश जी यह नेक काम कर रहे हैं. आप प्रकाश राव जी की पूरी कहानी इस वीडियो में देख सकते हैं.   

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -