अंतरराष्ट्रीय कबड्डी खिलाड़ी पर इस शख्स ने चलाई गोली

पंजाब में गुरदासपुर जिले की बटाला सब्जी मंडी में पार्किंग ठेकेदार ने मंगलवार सुबह मामूली विवाद के पश्चात एक अंतरराष्ट्रीय कबड्डी खिलाड़ी पर गोली चला दी, लेकिन खिलाड़ी को कोई हानि नहीं पहुंची है। पीड़ित खिलाड़ी जरमनजीत सिंह निवासी हसनपुर कलां ने कहा है कि वह बटाला सब्जी मंडी से सब्जी लेकर वापस अपने गांव को जा रहा था। इसी बीच, सब्जी मंडी में पार्किंग ठेकेदार पूर्व सैनिक मनजीत सिंह ने खिलाड़ी को पर्ची कटाने के लिए बोल दिया है। 

पार्किंग की पर्ची न कटवाने पर खिलाड़ी ने बोला है कि वह घर के लिए सब्जी लेकर जा रहा है, बेचने के लिए नहीं, इसी बात पर मनजीत और जरमन में बहस शुरू हो गई थी। जरमन ने इस बारें में कहा है कि बहस इतनी बढ़ गई कि मनजीत ने उसके पैर पर गोली चला दी। उसे हालांकि गोली नहीं लगी। घटना के उपरांत मनजीत घटनास्थल से फरार हो गया। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने मनजीत के विरुद्ध केस  दर्ज कर जांच शुरू कर दी हैं। 

इसके पहले खबरे थी कि इंडोनेशिया से एक बड़ी खबर आई है। जी दरअसल यहाँ एक फुटबॉल मैच के दौरान भड़की हिंसा में 127 लोगों की मौत हो गई है। खबरों के मुताबिक फुटबॉल मैच के दौरान स्टेडियम में भड़की हिंसा में कम से कम 127 लोगों की मौत हुई है जबकि कई लोग घायल हुए हैं। वहीं खबर यह भी है कि मृतकों में दो पुलिसकर्मी भी शामिल हैं। जी दरअसल इंडोनेशिया की पुलिस ने इस पूरी घटना की पुष्टि की है। कहा जा रहा है यह घटना ईस्ट जावा की है। जी दरअसल ईस्ट जावा के एक फुटबॉल मैदान में फुटबॉल मैच खेला जा रहा था। इस मैच को देखने के लिए बड़ी संख्या में दर्शक मैदान में पहुंचे थे। हालाँकि फुटबॉल मैच का नतीजा आया तब मैदान में मैच देखने पहुंचे प्रशंसक आक्रोशित हो उठे।

इस दौरान नाराज फैंस फुटबॉल मैदान में घुस गए और उत्पात मचाना शुरू कर दिया। जी हाँ और देखते ही देखते आक्रोशित प्रशंसकों ने फुटबॉल मैदान में घुसकर मारपीट शुरू कर दी। वहीं हर तरफ अफरा-तफरी मच गई। ईस्ट जावा पुलिस के चीफ निको एफिंटा के मुताबिक इस हिंसक घटना में मैदान में ही 34 लोगों की मौत हो चुकी थी। बताया जा रहा है ईस्ट जावा पुलिस के चीफ निको एफिंटा के मुताबिक बाकी 93 लोगों की मौत अस्पताल में उपचार के दौरान हुई है। आपको बता दें कि इंडोनेशिया के ईस्ट जावा स्थित एक स्टेडियम में Persebaya Surabaya और Arema FC के बीच मुकाबला खेला गया।

वहीं इस मुकाबले में अरेमा एफसी की टीम को मात मिली और टीम की हार के बाद आक्रोशित प्रशंसक मैदान में घुस आए और मारपीट शुरू कर दी। इस हिंसा में दो पुलिसकर्मियों की भी मौत हो गई है। आपको बता दें कि फुटबॉल स्टेडियम में हिंसा की सूचना किसी ने पुलिस को दे दी और सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस और इंडोनेशियाई राष्ट्रीय सशस्त्र बल के जवानों ने खिलाड़ियों को किसी तरह मैदान से सुरक्षित बाहर निकाला।

लीस्टर ने ईपीएल में हासिल की अपनी पहली जीत

Elina Ribakova ने विंबलडन चैम्पियनशिप में हासिल की जीत

जन्मदिन के दिन पर भी इस खिलाड़ी ने किया ऋषभ पंत को ट्रोल, जानिए क्या कहा?

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -