'140 करोड़ देशवासियों की यही इच्छा, राहुल गांधी संभालें ये पद..', CWC मीटिंग में उठी बड़ी मांग

'140 करोड़ देशवासियों की यही इच्छा, राहुल गांधी संभालें ये पद..', CWC मीटिंग में उठी बड़ी मांग
Share:

अमृतसर: कांग्रेस के कई नेताओं ने अपनी मांग उठाई है कि राहुल गांधी को लोकसभा में विपक्ष के नेता (LoP) का पद संभालना चाहिए। उनका कहना है कि इस पद पर राहुल महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे और इससे पार्टी को मजबूती मिलेगी। कांग्रेस नेता प्रताप सिंह बाजवा ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि, "सब कुछ पार्टी हाईकमान तय करेगा। पूरा देश मांग कर रहा है कि राहुल गांधी विपक्ष के मुख्य नेता के तौर पर सामने आएं। यह पद उपयुक्त है और वे महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे। इससे पार्टी को भी मजबूती मिलेगी।"

लुधियाना से सांसद पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष अमरिंदर सिंह राजा वारिंग ने कहा कि अंतिम फैसला पार्टी नेतृत्व को करना है और राहुल गांधी को ही यह फैसला लेना है कि उन्हें यह पद लेना है या नहीं। अमरिंदर सिंह राजा वारिंग ने कहा कि, "हमारी मांग रही है कि राहुल गांधी आगे आएं और सब कुछ संभालें, लेकिन अंतिम फैसला नेतृत्व का है। राहुल गांधी को खुद ही फैसला करना है। प्रधानमंत्री को शपथ नहीं लेनी चाहिए। वे '400 पार' की बात कर रहे थे, अगर मैं उनकी जगह पर होता तो शायद शपथ नहीं लेता।' 

उल्लेखनीय है कि, दिल्ली में कांग्रेस कार्यसमिति (CWC) की विस्तारित बैठक चल रही है। बैठक में कांग्रेस संसदीय दल की अध्यक्ष सोनिया गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे, पार्टी सांसद राहुल गांधी, पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा और पार्टी के अन्य नेता मौजूद हैं। तेलंगाना के मुख्यमंत्री रेवंत रेड्डी ने भी कहा कि यह 140 करोड़ भारतीयों की मांग है। उन्होंने कहा कि, "हमें अभी तक CWC बैठक के एजेंडे के बारे में पता नहीं है। हमारी मांग 140 करोड़ भारतीयों की मांग के समान है। राहुल गांधी को विपक्ष के नेता के रूप में पद संभालना चाहिए। राहुल गांधी महिलाओं और बेरोजगारों के लिए लड़ते रहे हैं।"

वहीं, गुरदासपुर से लोकसभा चुनाव जीतने वाले कांग्रेस सांसद सुखजिंदर सिंह रंधावा ने कहा कि राहुल गांधी ऐसे व्यक्ति हैं जो संसद में प्रधानमंत्री को जवाब दे सकते हैं और इसलिए उन्हें विपक्ष का नेता बनना चाहिए। उन्होंने कहा कि, "यह बहुत महत्वपूर्ण बैठक है। जो प्रस्ताव रखे जाएंगे, वे अच्छे होंगे। हम संसद में एक मजबूत विपक्ष की भूमिका निभाएंगे। हां, हम चाहते हैं कि देश को ऐसा चेहरा मिले जो प्रधानमंत्री को जवाब दे सके। मुझे लगता है कि पूरा देश यही चाहता है।" 

सरकार गठन में भाजपा द्वारा अपने सहयोगियों का समर्थन लेने के बीच, इंडिया ब्लॉक के नेताओं ने भविष्य की कार्रवाई करने से पहले "प्रतीक्षा करने और देखने" का फैसला किया है। कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद ने उम्मीद जताई कि NDA गठबंधन देश के भविष्य के लिए अच्छा साबित होगा। उन्होंने कहा कि, विभिन्न लोगों ने इसे विभिन्न तरीकों से वर्णित किया है। स्पष्ट रूप से, यह एक गठबंधन है। मेरा मानना ​​है कि यह गठबंधन इस देश के भविष्य के लिए अच्छा होगा, क्योंकि अब तक, जिस तरह से भाजपा ने सरकार चलाई है, वह असंतोषजनक है। आइए आशा करते हैं कि यह बेहतर होगा।" 

बता दें कि, इस चुनाव में कांग्रेस दूसरी सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी है और 2019 के लोकसभा चुनाव में 52 से अपनी संख्या में सुधार करते हुए 100 पर पहुंच गई है। वहीं, भाजपा ने पिछली बार के 303 सीटों में नुकसान उठाते हुए 240 का आंकड़ा छुआ है। इंडिया गठबंधन की कुल मिलकर 234 सीटें हैं, जबकि NDA गठबंधन की 293। इस बीच, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 9 जून को लगातार तीसरे कार्यकाल के लिए शपथ लेने की संभावना है। भाजपा के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) ने 4 जून को घोषित लोकसभा चुनाव के परिणामों में लगातार तीसरी बार सत्ता हासिल की।

'हरियाणा ने हमारा पानी रोक दिया..', दिल्ली में जल संकट के बीच मंत्री आतिशी का आरोप, लोगों में मचा हाहाकार

'पीएम मोदी के दयनीय चुनाव प्रदर्शन पर ढोल पीटने वालों..', नतीजों से गदगद कांग्रेस ने कसा तंज

छत्तीसगढ़ में नक्सलवाद का सफाया जारी, सुरक्षाबलों ने 7 और वामपंथी उग्रवादियों को किया ढेर

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -