प्रेग्नेंसी के दौरान ये है सबसे बड़ा डर, जरा सी लापरवाही हो सकता है नुकसान

प्रेग्नेंसी के दौरान ये है सबसे बड़ा डर, जरा सी लापरवाही हो सकता है नुकसान
Share:

मिर्गी से पीड़ित एक महिला, जिसे आमतौर पर दौरे के रूप में जाना जाता है, गर्भावस्था के दौरान अन्य बीमारियों की तुलना में 47% अधिक चिंता का अनुभव करती है। इस बढ़ी हुई चिंता के पीछे का कारण इस स्थिति के लिए ली जाने वाली दवाओं के कारण उनकी संतानों में जन्मजात दोष होने की संभावना है।

गर्भावस्था के दौरान भय

महिलाओं में यह चिंता 62% तक बढ़ जाती है। जैसे ही डॉक्टर किसी महिला में मिर्गी की पहचान करते हैं, वे दवा की खुराक में समायोजन के साथ उपचार शुरू करते हैं। यदि डॉक्टर स्थिति का जल्दी निदान कर लेते हैं, तो वे संभावित जटिलताओं से बच्चे और माँ दोनों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए तुरंत उपचार शुरू करते हैं।

भीषण गर्मी के दौरान स्वास्थ्य संबंधी चिंताएँ

उत्तरी भारत में इस समय भीषण गर्मी पड़ रही है। बढ़ते तापमान के कारण कई तरह की बीमारियाँ होने का खतरा रहता है, खास तौर पर डिहाइड्रेशन। इस मौसम में गर्भवती महिलाओं को खास ख्याल रखने की जरूरत होती है।

निर्जलीकरण और इसके जोखिम

गर्मी के कारण महिलाओं को अक्सर निर्जलीकरण या अचानक स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का डर रहता है। इसके अलावा, गर्मी का गर्भ में पल रहे बच्चे पर भी नकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

हाइड्रेटेड रहना

गर्मियों के मौसम में महिलाओं को खूब सारा पानी, ताजे फलों का जूस, दही और छाछ पीना चाहिए। ये शरीर के तापमान को नियंत्रित रखने में मदद करते हैं। सलाद खाने की भी सलाह दी जाती है। बाहर निकलते समय महिलाओं को खुद को पर्याप्त रूप से ढक कर रखना चाहिए।

स्वास्थ्य पर निर्जलीकरण का प्रभाव

निर्जलीकरण से गर्मी की चमक और समय से पहले प्रसव का खतरा बढ़ सकता है। उच्च तापमान भी उच्च रक्तचाप और उच्च हृदय गति का कारण बन सकता है। इनके अलावा, चक्कर आना और बेहोशी संभावित जोखिम हैं। इसलिए, महिलाओं को ऐसी स्थितियों से बचने के लिए खुद का विशेष ध्यान रखने की आवश्यकता है।

इन जोखिमों को कम करने के लिए, गर्भवती महिलाओं को चाहिए:

  1. हाइड्रेटेड रहें: डिहाइड्रेशन से बचने के लिए दिन भर में खूब सारा तरल पदार्थ पीना बहुत ज़रूरी है। पानी, नारियल पानी और ताज़े फलों का जूस बेहतरीन विकल्प हैं।

  2. इलेक्ट्रोलाइट्स का सेवन करें: पसीने के माध्यम से खोए गए इलेक्ट्रोलाइट्स की भरपाई करना आवश्यक है। इलेक्ट्रोलाइट समाधान वाले पेय पदार्थों का सेवन इलेक्ट्रोलाइट संतुलन बनाए रखने में मदद कर सकता है।

  3. धूप में निकलने से बचें: सीधी धूप में निकलने से बचें, खास तौर पर पीक आवर्स के दौरान, इससे ज़्यादा गर्मी से बचा जा सकता है। ढीले, हल्के रंग के कपड़े और चौड़ी किनारी वाली टोपी पहनने से अतिरिक्त सुरक्षा मिल सकती है।

  4. बार-बार आराम करें: विश्राम के लिए रुकना तथा ठण्डे, छायादार स्थान पर आराम करना शरीर के तापमान को नियंत्रित करने तथा थकावट को रोकने में सहायक हो सकता है।

  5. लक्षणों पर नज़र रखें: चक्कर आना, कमज़ोरी, तेज़ दिल की धड़कन या भ्रूण की हरकतों में कमी जैसे चेतावनी संकेतों के प्रति सचेत रहना बहुत ज़रूरी है। अगर ये लक्षण दिखें तो डॉक्टर से सलाह लेना ज़रूरी है।

  6. संतुलित आहार बनाए रखें: फलों, सब्जियों, प्रोटीन और साबुत अनाज से भरपूर संतुलित आहार खाने से आवश्यक पोषक तत्व मिलते हैं और समग्र स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद मिलती है।

  7. मसालेदार और तैलीय भोजन से बचें: मसालेदार और तैलीय भोजन खाने से गर्मी के मौसम में परेशानी बढ़ सकती है। हल्का और आसानी से पचने वाला भोजन चुनना उचित है।

  8. अधिकतम गर्मी के समय घर के अंदर रहें: यदि संभव हो तो दिन के सबसे गर्म समय (आमतौर पर सुबह 10 बजे से शाम 4 बजे के बीच) के दौरान घर के अंदर रहने से गर्मी से संबंधित बीमारियों से बचने में मदद मिल सकती है।

मिर्गी से पीड़ित और गर्मी की चुनौतियों का सामना करने वाली गर्भवती महिलाओं को अपने स्वास्थ्य और सेहत को प्राथमिकता देने की ज़रूरत है। इन सावधानियों का पालन करके और समय पर चिकित्सा सलाह लेकर, वे इन चुनौतियों से सुरक्षित रूप से निपट सकती हैं और अपने और अपने बच्चों के लिए एक स्वस्थ गर्भावस्था सुनिश्चित कर सकती हैं।

इस राशि के लोगों को आज धैर्य रखना चाहिए, जानें अपना राशिफल

मेष राशि के जातकों के लिए आज का दिन ऐसा रहने वाला है, जानिए अपना राशिफल.....

नए हफ्ते में होंगे इन 5 राशियों के बिगड़े काम, पढ़ें साप्ताहिक भाग्यशाली राशियां

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -