गुजरात के खौफनाक जंगल में पांच सौ शेरों के बीच दिन रात रहती हैंं यह शेरनियां

जूनागढ़। अगर इन्हे गुजरात की शेरनियों का नाम दे तो गलत नहीं होगा। क्योकि इनका काम ही ऐसा है। गुजरात में गिर के जंगलों में ये बिना खौफ के घूमती हैं। बता दे की वही यह जंगल, करीब सवा पांच सौ एिशयाई शेरों का आशियाना है। इस जंगल में अनगिनत तेंदुए, मगरमच्छ और कई खतरनाक जानवर भी रहते हैं। उन्हीं के बीच वनकर्मी का जिम्मा संभाले ये शेरनियां हैं-रसीला वाढेर, किरण पीठिया और दर्शना कागड़ा।

साल 2007 में वनकर्मी की परीक्षा में चयनित हुई इन लड़कियों की पहले ऑफिस के कामकाज में लगाया गया था। बाद में उन्हीं के कहने पर जंगल में वे फील्ड पर उतरीं। डीएफओ संदीप कुमार ने बताया कि तीनों ने अब तक 800 से ज्यादा रेस्क्यू ऑपरेशन कर कई सिंहों के अलावा जंगली जानवरों को नया जीवन दिया है।

उनके इन कारनामों को डिस्कवरी चैनल पर 4 एपिसोड में दिखाया जा रहा है। अंग्रेजी, हिंदी, तमिल, तेलुगू और गुजराती भाषाओं में तैयार की इस डॉक्यूमेंट्री का प्रसारण पूरे द. एशिया में 28 सितंबर से रात 9 बजे से किया जाएगा। एपिसोड एक घंटे का रहेगा।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -