शादी में दे यह उपहार जिससे करेगी बेटी ससुराल में राज

शादी में दे यह उपहार जिससे करेगी बेटी ससुराल में राज

पुराणों में भी बेटीयो को लक्ष्मी स्वरुप माना गया है और प्रत्येक माता-पिता के लिए बेटीया किसी सम्पदा से कम नहीं होती है, हम उन्हें काफी दुलार और नाजो के साथ उनकी हर ख्वाहिश पूरी करने कि कोशिश करते है, जिससे वह हमेशा खुश रह सके लेकिन बेटी जब मां की कोख से अवतरीत होती है तो पिता की किस्मत लेकर आती है और पराया धन कहलाती है.

शास्त्र भी यही कहते हैं जैसे लक्ष्मी कभी किसी एक की नहीं हो सकती उसी प्रकार पुत्री भी किसी एक के घर जन्म लेकर किसी दूसरे घर जाकर उसका जीवन उज्जवल करती है। इसी कारण वो पराया धन कहलाती है, भारतीय संस्कृति में पुत्री को आज भी धन माना जाता है और बेटी को धन मान कर सुयोग्य वर को कन्या दान किया जाता है और शास्त्रों में भी कन्यादान को महादान कहा गया है,

 सभी कि कामना होती है कि वो अपनी बेटी को अच्छे संस्कार दे जिससे वह अपने ससुराल में सुखी और ख़ुशी के साथ जीवन में आने वाले पडावो को पार कर सके इसके लिए शास्त्रों के अनुसार कन्यादान के समय बेटियों को ऐसी चीजे उपहार में दी जानी चाहिए. जिससे वह अपने ससुराल में राज कर सके और अपना कर्तव्य अपने ससुराल में संस्कार के साथ निभा सके. बेटियों को कन्यदान के दौरान उपहार में डबल बैड का पंलग, बिना जोड़े वाला डबल बेड का गद्दा, हाथ का पंखा,नाक की नथ, डिनर सेट, पाँव कि बिछिया,  कमर बंद, पायल, श्रीफल प्रदान कर बेटी के अच्छे और सुखी जीवन की कामना करना चाहिए.