कस्टमर के दिलों पर राज कर रही ये इलेक्ट्रिक कार

इंडियन लोगों का इलेक्ट्रिक वाहनों के प्रति रुझान निरंतर बढ़ने लगे है. जिसका उदाहरण हमने बीते माह भी देखा है. अक्टूबर में त्योहारी सीजन के कारण भारत में इलेक्ट्रिक कारों की जमकर बिक्री हुए थी जो कि एक नया रिकॉर्ड भी बना लिया है. लेकिन फेस्टिव सीजन बीतने के उपरांत भी इलेक्ट्रिक वाहनों की बिक्री और डिमांड में कोई कमी देखने के लिए नहीं मिली है और कयास यह लगाए जा रहे हैं कि इस महीने भी EVs के सेल्स के आंकड़े पिछले महीने के रिकॉर्ड की बराबरी भी कर पाएंगे.   

अक्टूबर में इतनी हुई बिक्री: वाहन (Vahan), जो कि कार रजिस्ट्रेशन करने वाली सरकारी वेबसाइट है, से प्राप्त आंकड़ों के मुताबिक बीते माह अक्टूबर में देश में इलेक्ट्रिक वाहनों की सेल ने 1.15 लाख यूनिट्स के अंक को छू चुके थे. यही क्रम इस महीने भी जारी है और नवंबर में अब तक इलेक्ट्रिक वाहनों की 99,000 यूनिट्स की सेल भी हो गई थी. इससे यह उम्मीद की जा रही इस महीने भी इन वाहनों के बिक्री के आंकड़े अक्टूबर की सेल बराबर रह सकती है.  

क्या है कारण?: देश के लोग इलेक्ट्रिक कारों के साथ इलेक्ट्रिक टू व्हीलर्स को भी बहुत पसंद भी कर रहे है. इलेक्ट्रिक टू व्हीलर निर्माता कंपनी ओला इलेक्ट्रिक ने बीते माह अकेले 20 हजार यूनिट्स की सेल की है. इसके साथ ही ओला इलेक्ट्रिक वाहनों के सैगमेंट में सबसे अधिक बिक्री करने के मामले में नंबर एक ब्रैंड बन चुका है. इलेक्ट्रिक वाहनों की अधिक बिक्री का कारण इसका कम मेंटेनेंस कॉस्ट होना और चलाने का खर्च भी कम होना है.  

ज्यादा रेंज वाली कारें हैं पसंद: इलेक्ट्रिक कार खरीदने वाले ग्राहक अधिक रेंज वाली कारों पर अधिक भरोसा कर रहे हैं, क्योंकि वे इसका इस्तेमाल सिर्फ शहरों में ड्राइविंग के लिए ही नहीं बल्कि लॉन्ग ट्रिप पर जाने के लिए भी करना चाह रहे है. Jato Dynamics की रिपोर्ट के अनुसार, 58% ग्राहकों की इच्छा होती है कि उनकी कार एक बार चार्ज करने पर कम से कम 400 KM तक चले.

अब आप भी नई कार खरीदने के साथ बचा सकते है पैसे

आज ही खरीदें ज्यादा स्पेस वाली ये कार

सीएम योगी ने किया बड़ा एलान, कहा- "20 अरब डॉलर के निवेश से उत्तर प्रदेश बनेगा ऑटो हब..."

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -