इस क्रिकेटर को दुबई एयरपोर्ट से किया बाहर

दिल्ली: स्पॉट फिक्सिंग में प्रतिबंधित हो चुके पाकिस्तानी तेज गेंदबाज मोहम्मद आसिफ को पूरे दस्तावेज नहीं होने की वजह से दुबई एयरपोर्ट पर रोक दिया गया. यहां आव्रजन अधिकारियों ने आसिफ को एयरपोर्ट के भीतर जाने की इजाजत नहीं दी जिसके बाद उन्हें वापस पाकिस्तान लौटना पड़ा. आसिफ ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया, 'मेरे पास उनके विदेश मामलों के मंत्रालय का विशेष पत्र नहीं था जिसकी मुझे दुबई में प्रवेश करने के लिये जरूरत होती है.’ 

आसिफ ने कहा कि उन्हें संयुक्त अरब अमीरात के दौरे के लिये एक वीजा जारी किया गया था जहां उन्हें शारजाह में एक टी-टवेंटी टूर्नामेंट खेलने का न्योता मिला था. मोहम्मद आसिफ ने कहा, ‘आयोजकों ने अब कहा है कि वो इस पत्र का इंतजाम करेंगे, जिसके बाद मैं शायद वहां जाकर इस टूर्नामेंट में खेल सकूं.' बता दें साल 2010 के लॉर्ड्स टेस्ट के दौरान स्पॉट फिक्सिंग में लिप्त पाए जाने के कारण आईसीसी ने 2011 में आसिफ को 5 साल के लिए हर तरह की क्रिकेट से प्रतिबंधित कर दिया था. आसिफ उस दौरान फिक्सिंग के केस में फंसे थे जब पाकिस्तान की टीम साल 2010 में इंग्लैंड दौरे के लिए गए थी. 

फिक्सिंग कांड से पाकिस्तान क्रिकेट पर काला धब्बा लगा था और इसके बाद से आसिफ दोबारा अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी ही नहीं कर पाए. इंग्लैंड दौरे पर 32 साल के सलमान बट टीम के साथियों मोहम्मद आसिफ और मोहम्मद आमिर के साथ स्पॉट फिक्सिंग प्रकरण के मुख्य साजिशकर्ता थे. इन तीनों को 5 साल के लिए प्रतिबंधित किया गया था और जेल की सजा भी मिली थी. इन तीनों का प्रतिबंध सितंबर 2015 में पूरा हो गया था. बट ने इसके बाद से घरेलू क्रिकेट में अच्छा प्रदर्शन किया है जबकि आमिर ने पिछले साल जनवरी में राष्ट्रीय टीम में वापसी की थी.

धोनी और रजनीकांत दिखे एक साथ

डेरेन लेहमन का कोच पद से इस्तीफ़ा

क्रिकेट को कलंकित करने वाले स्मिथ ने कभी किये थे ये कारनामें

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -