टैटू रिमूव कराने के पहले जान लें ये बातें

टैटू रिमूव कराने के पहले जान लें ये बातें

टैटू बनवाने का शौक कई लोगों को होता है, लेकिन वे एक ही टैटु से बोर भी हो जाते हैं जिसके चलते उसे निकलवाने की सोचते हैं. लेकिन आपको बता दें, इसे रिमूव कराने में कितनी परेशानी हो सकती है. अगर आप इसे निकलाना चाहते हैं तो पहले डॉक्टर से सम्पर्क से करें. जानिए इसमें क्या क्या परेशानी हो सकती है.  

* टॉपिकल क्रीम काम नहीं करते- बाजार में ऐसे क्रीम और बाम मिलते हैं जिनके बारे में टैटू को रिमूव करने या हल्का करने का दावा किया जाता है. लेकिन ऐसा कोई क्रीम या घरेलू उपाय नहीं है जिससे टैटू को हटाया जा सके.

* लेजर ट्रीटमेंट से जलने की स्मेल आती है- टैटू रिमूव कराने के लिए लेजर ट्रीटमेंट के बाद उस हिस्से से जलने के स्मेल आती रहती है. लेजर पल्म तकनीक में जब आपकी स्किन से टैटू रिमूव किया जाता है, तो आपको जलने के स्मेल आ सकती है.

* लेजर से दर्द नहीं होता- लेजर ट्रीटमेंट से आपको केवल कुछ सेकंड के लिए दर्द होता है. लेजर वाला रूम बहुत गर्म होता है क्योंकि लेजर बहुत अधिक ऊर्जा पैदा करता है इसलिए आपको आईवियर दिया जाता है ताकि आप कुछ भी देख ना सकें.

* हाथ-पैर और टखनों से टैटू हटाना मुश्किल- इन हिस्सों से टैटू हटाना लोअर बैक की तुलना में कठिन होता है. वैस्कुलर हिस्से से हटाना आसान होता है. बटक्स और अपर आर्म्स की तुलना में पेट से टैटू हटाना आसान है. जबकि हाथ-पैर और टखनों से हटाना मुश्किल होता है. 

* लाल या पीले टैटू को मिटाना मुश्किल - कोई भी लेजर सभी कलर्स पर काम नहीं करते हैं. अलग-अलग रंग प्रकाश की अलग-अलग तरंगों (wavelength) को अवशोषित करता है. इसलिए हर मेडिकल प्रैक्टिशनर के पास अलग-अलग रंग के लिए अलग-अलग वेवलेंथ होती है. ज्यादातर पेशेवर लेज़र को खरीदते हैं जो काले और नीले रंग पर काम करते हैं. इसलिए लाल और पीले जैसे रंगों से छुटकारा पाना मुश्किल हो सकता है.

थ्रेडिंग के बाद की गलतियां कर देती हैं ये परेशानी

स्किन के लिए लाभकारी है फोटो फेशियल, जान लें फायदे और नुकसान

मानसून में जानें कौनसा साबुन होगा स्किन के लिए बेहतर