विश्व कप 2018 से बाहर रहने की भरपाई करना चाह रही ये खिलाड़ी

चोट की वजह से 2018 FIH हॉकी वर्ल्ड कप से बाहर रहीं भारत की अनुभवी मिडफील्डर सुशीला चानू टूर्नामेंट के आगामी सत्र में अच्छा प्रदर्शन करके इसकी भरपाई करना चाह रही है। सुशीला ने भले ही इंडिया के लिए 208 मैच खेले हों लेकिन नीदरलैंड में होने वाला टूर्नामेंट उनका पहला वर्ल्ड कप होने वाला है। भावुक सुशीला ने बोला है कि 2018 में चोट की वजह से मैं लंदन में विश्व कप में नहीं खेल सकी थी । जिसके उपरांत  मुझे फॉर्म को लेकर जूझना पड़ा और मैं उस वर्ष  एशियाई खेलों में भी नहीं खेल पाई। यह संभवत: मेरे करियर का सबसे मुश्किल दौर साबित हुआ था।

सुशीला ने इस बारें में बोला है कि यह मुश्किल चरण था लेकिन मैं उससे बाहर निकलने के लिए प्रतिबद्ध थी और मैंने टीम में दोबारा स्थान बना लिया है। वर्ल्ड कप एक जुलाई से शुरू होगा लेकिन इंडिया अपने अभियान की शुरुआत 3 जुलाई को इंग्लैंड के विरुद्ध करने वाले है। एशियाई खेल 2018 से बाहर रहने के उपरांत 30 वर्ष की सुशीला ने मजबूत वापसी की और बीते वर्ष में टीम की प्रगति में अहम भूमिका को अदा किया था।

मंगलवार शाम चिली के विरुद्ध टीम के अभ्यास मैच के इतर सुशीला ने बोला है कि टीम की मेरी कई साथी दूसरी बार वर्ल्ड कप में खेल रही हैं लेकिन मेरा यह पहला वर्ल्ड कप है। यह मेरे लिए भावुका लम्हा है और मुझे निश्चित तौर पर यकीन है कि यह हमारे लिए यादगार होने वाला है। बता दें कि सुशीला FIH ओलंपिक क्वालीफायर और भुवनेश्वर में FIH सीरीज फाइनल्स में जीत दर्ज करने वाली इंडियन टीम का भाग थी। एशियाई खेल 2014 की कांस्य पदक विजेता टीम में शामिल सुशीला ने बीते वर्ष तोक्यो ओलंपिक में इंडिया को एतिहासिक चौथा स्थान दिलाने में भी भूमिका निभाई। 

बड़ी प्रतियोगिता से पहले ड्रेसिंग रूम के मूड पर सुशीला ने अपनी बात जारी रखते हुए कहा है कि बीते सप्ताह रोटरडम में हमारे प्रो लीग मुकाबलों के तुरंत बाद हम एम्सटेलवीन पहुंचे। हमें टीम होटल में सहज होने का पर्याप्त वक़्त हासिल हुआ है और हम वर्ल्ड कप आयोजन स्थल पर भी ट्रेनिंग करने में लगे हुए है। उन्होंने बोला है कि निश्चित तौर पर सभी अपना शत प्रतिशत देने को लेकर उत्साहित हैं। हम सभी की नजरें हमारे पहले मैच पर टिकी हैं और हमें इंग्लैंड के खिलाफ अच्छी शुरुआत की आवश्यकता है। 

कप्तान पांड्या ने हर्षल-ईशान को बकी गाली ! देखें वायरल Video

जब कोई ऑप्शन नहीं बचा, तो 'योद्धा' बनना ही पड़ा.., आयरलैंड के खिलाफ शतक ठोंक बोले हुड्डा

मोईन अली ने पढ़ा 'विराट' का दिमाग, जानिए वे कोहली के बारे में क्या समझे ?

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -