UP में ऑनलाइन बिना बीएड बना रहे है प्रिंसिपल

लखनऊ : उत्तर प्रदेश के सरकारी स्कूलों में प्रधानाचार्यों, शिक्षकों और चपरासी की नियुक्ति के नाम पर ऑनलाइन ठगी का मामला सामने आया है। अब बदमाशो ने लोगो को ठगने का नया तरीका निकला है जिसमे की ग्राम शिक्षा परिषद नाम से फर्जी वेबसाइट www.gramshikshaparishadup.in बनाकर बेरोजगारों लोगो से ऑनलाइन आवेदन ले रहे हैं। लेकिन बेसिक शिक्षा परिषद को इस मामले की कानो कान खबर नही है। ऑनलाइन व डाक से आवेदन की आखिरी तारीख क्रमश: 17 व 20 अक्टूबर रखी है।

केन्द्र सरकार के सर्व शिक्षा अभियान के तहत कार्यरत होने का दावा करने वाली इस संस्था ने पूर्व माध्यमिक स्कूलों में प्रधानाचार्यों के 5131, शिक्षकों के 10262 और चपरासी के 5131 पदों पर अनुबंध के आधार पर भर्ती के लिए आवेदन मांगा है। संस्था इन पदों के लिए वेतन क्रमश: 19,500, 15,000 और 7000 बता रही है। सामान्य व ओबीसी वर्ग से 300 और एससी आवेदकों से 200 रुपये फीस ली जा रही है। संस्था ने वेबसाइट पर इंटरव्यू के जरिए चयन की बात कही है। संस्था ने अपना पता 4/733 ए-विभव खंड गोमती नगर लखनऊ दिया है।

ऑनलाइन फर्जीवाड़े का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि इसमें भर्ती का कोई पैमाना ही नहीं है। प्रधानाचार्य के पद पर किसी विषय में स्नातक, शिक्षक के लिए इंटर और चतुर्थ श्रेणी के लिए आठवीं पास से आवेदन मांगे हैं। जबकि सरकारी पूर्व माध्यमिक स्कूलों में प्रिंसिपल की सीधी भर्ती नहीं होती। शिक्षक बनने के लिए बीएड-बीटीसी के साथ टीईटी पास होना अनिवार्य है। 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -