स्वतंत्रता के बाद से आज तक CPI हेडक्वॉर्टर पर नहीं फहराया गया तिरंगा, कहते थे- झूठी है आज़ादी

नई दिल्ली: आज़ाद भारत के इतिहास में ऐसा पहली दफा होने जा रहा है, जब स्वतंत्रता दिवस (15 अगस्त) के अवसर पर प्रमुख वामपंथी दल CPI(M) अपने हेडक्वार्टर व कार्यालयों में राष्ट्रीय ध्वज फहराएगा। पार्टी ने फैसला लिया है कि स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगाँठ पर कोलकाता के अलीमुद्दीन स्ट्रीट स्थित हेडक्वार्टर के अलावा अन्य पार्टी कार्यालयों में तिरंगा फहराया जाएगा। लेफ्ट फ्रंट के नेता और MLA सुजान चक्रवर्ती ने इस सम्बन्ध में हाईकमान को प्रस्ताव भेजा था।

पार्टी हाईकमान ने इस पर मुहर लगा दी है। उन्होंने बताया कि इस मौके पर CPI(M) पूरे साल भर विभिन्न कार्यक्रम आयोजित करेगा और आज़ादी की 75वीं वर्षगाँठ पूरे धूमधाम के साथ मनाएगा। पार्टी हाईकमान हाल ही में पश्चिम बंगाल में मिली बुरी शिकस्त के पीछे का कारण जुटा रहा है और नेताओं से सुझाव माँग रहा है। 2011 तक वहाँ सत्ता में रहे वामपंथी दलों व उनके गठबंधन साथी कांग्रेस को इस साल हुए विधानसभा चुनावों में एक भी सीट नसीब नहीं हुई।

पूर्व केंद्रीय विदेश सचिव विजय गोखले ने अपनी पुस्तक ‘The Long Game: How the Chinese Negotiate with India’ में बताया है कि चीन किस तरह से भारत में अपना ‘घरेलू विपक्ष’ बनाने के लिए लेफ्ट पार्टियों में अपने करीबी तत्वों का उपयोग करता रहा है। 2007-08 में भारत-अमेरिका परमाणु संधि को रुकवाने के लिए चीन ने ये पैंतरा चला था। उस समय कई वामपंथी नेता उपचार के बहाने चीन की यात्रा पर जाया करते थे। बता दें कि 1947 में आज़ादी मिलने के बाद भी CPI ने कभी इसे स्वीकार नहीं किया और पार्टी के वरिष्ठ नेता बीटी रणदिवे ने एक बयान में कहा था, 'ये आज़ादी झूठी है।'

पुतिन और 4 अन्य राष्ट्रपति आज पीएम मोदी की अध्यक्षता में UNSC की बैठक में भाग लेंगे

'भाजपा गद्दी छोड़ो' नारे के साथ मैदान में उतरी कांग्रेस, मिशन यूपी के लिए बनाई ये रणनीति

क्या मोदी सुलझा पाएंगे असम-मिजोरम बॉर्डर विवाद ? PM के साथ सीएम सरमा की बैठक आज

 

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -