तीसरे विश्व युद्ध की आहट ! चीन ने शुरू की ताइवान पर कब्जे की तैयारी, अमेरिका-जापान भड़के

तीसरे विश्व युद्ध की आहट ! चीन ने शुरू की ताइवान पर कब्जे की तैयारी, अमेरिका-जापान भड़के
Share:

बीजिंग: दुनिया पर तीसरे विश्व युद्ध का ख़तरा मंडराने लगा है। इजराइल-फिलिस्तीन, रूस-यूक्रेन में लंबे समय जारी जंग के बीच मध्य पूर्वी देशों में भी तनाव बढ़ने लगा है। ईरान और लेबनान के हिज्बुल्ला आतंकी, यमन के हूती विद्रोही, इराक-सीरिया के इस्लामिक स्टेट के आतंकी इस आग में घी डालने का काम कर रहे हैं। इस बीच चीन चुपचाप अपनी चाल को अंजाम देने में लगा हुआ है। चीन ने ताइवान पर कब्ज़ा करने के अपने इरादे स्पष्ट कर दिए हैं। 

चीन ने पीपुल्स लिबरेशन आर्मी नेवी (PLA-N) में उभयचर लैंडिंग क्राफ्ट की कमी की भरपाई के लिए ताइवान में घुसपैठ करने के अपने प्रयासों के तहत बख्तरबंद वाहनों और कर्मियों के परिवहन के लिए नागरिक घाटों का उपयोग शुरू कर दिया है। स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी के दक्षिण चीन सागर विशेषज्ञ रे पॉवेल के अनुसार, ये नागरिक नावें अत्यधिक कमजोर होती हैं और युद्ध के दौरान इन्हें चलाना मुश्किल होता है, जिससे वे ताइवान के लिए आसान लक्ष्य बन जाती हैं।

चीन ने ताइवान के आसपास घुसपैठ अभ्यास शुरू कर दिया है, यह दो वर्षों में तीसरा उदाहरण है जब सैन्य अभ्यास ने द्वीप को घेर लिया है। रक्षा विशेषज्ञों और अमेरिकी खुफिया का मानना है कि चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने सेना को 2027 तक ताइवान पर कब्जा करने के लिए तैयार रहने का निर्देश दिया है। ताइवान की सेना, हालांकि छोटी है, लेकिन वो अपने पहाड़ी इलाकों और 150 किमी चौड़े ताइवान जलडमरूमध्य द्वारा संरक्षित है, जिससे उसकी तरफ आने वाली चीनी सेना को निशाना बनाना ताइवान के लिए आसान हो जाता है। 

एक नए वीडियो में, चीन ने जीवित हथियारों से लैस तोपखाने और बमवर्षकों की तैनाती का प्रदर्शन किया, जो आवश्यक होने पर सीधे हमले के लिए तत्परता का संकेत देता है। इन बलों को अभ्यास के दौरान नौसेना के साथ समन्वय करने का निर्देश दिया गया है। इस बीच, अमेरिकी सदन की विदेश मामलों की समिति के अध्यक्ष माइकल मैक्कल ने अभ्यास के बीच ताइवान का दौरा किया, जिससे चीन ने धमकियां जारी कीं और उनकी यात्रा को उत्तेजक करार दिया। मैक्कल ने अमेरिका-ताइवान संबंधों को मजबूत करने की आवश्यकता पर जोर देते हुए कहा कि अमेरिका ताइवान के साथ मजबूती से खड़ा है।

जापान ने भी ताइवान जलडमरूमध्य में चीन के सैन्य अभ्यास को अंतरराष्ट्रीय सम्मान का अपमान बताते हुए ताइवान के प्रति कड़ा समर्थन व्यक्त किया है। जापान ने दोहराया कि ताइवान एक स्वतंत्र देश है और चीन द्वारा घुसपैठ के किसी भी प्रयास को रोकने की कसम खाई है।

15 साल के नाबालिग ने की थी 50 वर्षीय हकीम नज़ाकत की हत्या, पुलिस को बताई चौंकाने वाली वजह

Google का बड़ा ऐलान, बंद होने जा रही है ये सर्विस

चारधाम यात्रा में उमड़ी भीड़ से चरमराई व्यवस्था, अब तक 64 श्रद्धालुओं की मौत

 

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -