यूपी सरकारी आवास: 25 कमरे का बंगला, किराया मात्र 4212

लखनऊ: पूर्व मुख्यमंत्रियों द्वारा सरकारी आवास में निवास करने के मामले में सुप्रीम कोर्ट का आदेश आ चुका है, सुप्रीम कोर्ट ने सभी पूर्व मंत्रियों को सरकारी आवास खाली करने का आदेश देते हुए कहा है कि एक बार मुख्यमंत्री अपने पद से हट जाता है तो वह एक आम नागरिक हो जाता है. सुप्रीम कोर्ट के इस आदेश के अनुसार यूपी के 6 पूर्व मुख्यमंत्रियों को सरकारी आवास खाली करना होगा.

इन 6 पूर्व मुख्यमंत्रियों में एनडी तिवारी, कल्याण सिंह, राजनाथ सिंह, मुलायम सिंह और मायावती का नाम शामिल हैं. इनमे से भी सबसे बड़ा बंगला मिला है सपा के संस्थापक मुलायम सिंह यादव को, मुलायम का बंगला 2,436 वर्गमीटर में फैला है और इसमें 25 कमरे हैं. सबसे हैरानी वाली बात तो यह है कि इस शाही सरकारी आवास के लिए मुलायम को मात्र 4212 रु प्रतिमाह का भुगतान करना पड़ता है, जिसमे वाटर टैक्स और गृहकर भी शामिल है. 

मुलायम के ठीक में उनके बेटे और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव का है. 4 विक्रमादित्य मार्ग पर स्थित अखिलेश यादव के बंगले से अंदर ही अंदर एक रास्ता निकलता है जो मुलायम के बंगले में जाता है, यानि बाप-बेटे दोनों के लिए अलग बंगला. एक और दिलचस्प बात यह है कि अखिलेश के बंगले का किराया भी उतना ही है. वहीं चार बार मुख्यमंत्री रह चुकी बसपा सुप्रीमो मायावती का सरकारी बंगला 13ए मॉल एवेन्यू है. इस बंगले का किराया भी 4,212 ही है. अब तो आप समझ ही गए होंगे कि देश की तरक्की किस प्रकार हो रही है. जीवन भर सीमा पर खड़े रहकर, सब कुछ सहकर देश की सेवा करने वाले सिपाही को परिवार के साथ रहने के लिए भी एक कमरा नहीं मिलता और इन सियासतदारों को.. खैर, धन्यवाद् सुप्रीम कोर्ट.  

सरकारी आवास मामला: झारखण्ड में नहीं चलेगा SC का फरमान

SC में भी ख़ारिज हुआ कांग्रेस का महाभियोग प्रस्ताव

अब छत्तीसगढ़ में 11 संसदीय सचिवों की नियुक्ति पर नोटिस

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -