आत्महत्या की वजह- पुलिस, प्रिंसिपल और सहपाठी

Dec 02 2017 11:22 AM
आत्महत्या की वजह- पुलिस, प्रिंसिपल और सहपाठी

गुरूवार को 12वीं क्लास की छात्रा ने सहपाठी के परेशान करने तथा प्रिंसिपल और पुलिस के गलत व्यवहार से व्यथित होकर फांसी लगा ली. शुक्रवार को परिजनों ने सिटी थाने के सामने छात्रा के शव के साथ प्रदर्शन किया और स्कूल के प्रिंसिपल व आरोपी सहपाठी को पकड़ने की मांग की.

मृतका के पिता ने बताया कि उनकी बेटी मलेरना रोड पर स्थित एक प्राइवेट स्कूल में कक्षा 12वीं की छात्र थी. कुछ महीने उसने अपने सहपाठी से मार्कशीट मंगाई. वह उसका मोबाइल नंबर और आधार कार्ड भी ले गया था. आरोप है कि वह मार्कशीट नहीं लाया, उल्टा कॉल करके छात्रा को परेशान करना शुरू कर दिया. स्कूल जाकर प्रिंसिपल से शिकायत की, तो उन्होंने मामले को स्कूल से बाहर निपटाने के लिए कहा. तिस पर स्कूल में सहपाठी के परिजनों व उनके बीच विवाद हो गया. हमने मामले की शिकायत पुलिस से की, पर पुलिस भी समझौते का कहने लगी. इधर प्रिंसिपल ने छात्रा को स्कूल से निकाल दिया.

छात्रा ने घर आकर करीब 1:30 बजे फांसी लगाकर जान दे दी. परिजनों का आरोप है कि उसकी मौत के ज़िम्मेदार सहपाठी,पुलिस और प्रिंसिपल हैं. पुलिस ने शुक्रवार को शव का पोस्टमॉर्टम करवाने के बाद परिजनों को सौंप दिया. परिजनों ने शव सहित सिटी थाने पहुंचकर, आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग की. डीसीपी विष्णु दयाल के दो दिन के अंदर आरोपियों को गिरफ्तार करने का आश्वासन देने के बाद परिजन वहाँ से हटे.

प्रेमी युगल ने काटा एक दूसरे का गला

जीडीपी की बढ़ी दर ,होगा गुजरात चुनाव पर असर

शिवसेना ने किया योगी पर वार