मांगलिक दोष की समस्या का यही है निवारण

Jan 22 2016 07:42 AM
मांगलिक दोष की समस्या का यही है निवारण

मानव जीवन में ग्रह दोष जैसी अनेकों समस्याएं आ जाती है पर आप इनसे घबराएं नहीं ज्योतिष शास्त्र के अनुसार यदि ग्रह आप पर प्रसन्न हो जाएं तो जातक के जीवन में खुशियां भर देते हैं. वहीं उनकी वक्र दृष्टि के चलते कभी-कभी जातकों को कष्ट सहना भी पड़ता है। मंगलकृत पीड़ा जिसे हम मांगलिक दोष भी कहते है इन्हीं में से एक है।

मंगलकृत पीड़ा से मुक्ति के लिए मंगल रत्न मूंगा का विशेष महत्व माना गया है। यह एक ऐसा दोष है जिसकी वजह से युवक और युवती के विवाह में भी समस्याओं का सामना करना पड़ता है.पर आप इस समस्या से घबराएं न इसका बहुत ही सरल उपाए जो इससे निवृत कराये .

यदि जातक का जन्म मंगलवार हो तो मूंगा धारण करना चाहिए.

मेष लग्न में जन्में जातक सफेद मूंगा चांदी में अंगूठी के रूप में धारण करें.

मंगल यदि कारक होकर किसी खराब भाव में है तब मूंगा धारण कर सकते हैं.

मंगल की महादशा होने पर भी मूंगा धारण कर सकते हैं.

मंगल यदि राहू या शनि के साथ किसी भी भाव में हो तो भी मूंगा धारण कर सकते हैं.

मंगल की दृष्टि यदि लग्न, सप्तम, दशम या फिर एकादश भाव पर हो तो भी मूंगा धारण कर सकते हैं.