पारा शिक्षकों ने प्रधानमंत्री को भेजा खून से लिखा पत्र

रांची - अपनी विभिन्न मांगों के संदर्भ में आंदोलनरत पारा शिक्षकों का घेरा-डालो, डेरा-डालो कार्यक्रम शनिवार को तीसरे दिन भी जारी रहा. हजारों की संख्या में पारा शिक्षक दिन भर जयपाल सिंह स्टेडियम में डटे रहे. पारा शिक्षक व बीआरपी-सीआरपी ने अपने खून से प्रधानमंत्री को पत्र लिख कर न्याय की मांग की है.

इस सम्बन्ध में झारखंड प्रदेश पारा शिक्षक संघ के अध्यक्ष संजय कुमार दुबे ने बताया कि जब तक उनकी मांग पूरी नहीं होती, आंदोलन जारी रहेगा. संघ के अध्यक्ष ने बताया कि 23 अक्तूबर के बाद आंदोलन को और तेज किया जायेगा. रविवार को संघ आगे की रणनीति की घोषणा करेगा.

उधर दूसरी तरफ सरकार ने पारा शिक्षकों को 25 अक्तूबर तक काम पर लौटने की चेतावनी दी है. 25 अक्तूबर तक काम पर नहीं लौटने वाले पारा शिक्षकों के खिलाफ कार्रवाई की जायेगी. इस संबंध में सभी जिलों को पत्र भेज दिया गया है. एक नवंबर से हटाये गये पारा शिक्षकों की जगह नये पारा शिक्षकों की नियुक्ति प्रक्रिया शुरू करने की तैयारी चल रही है. 15 नवंबर से तक प्रक्रिया पूरी हो जाने की संभावना है. सरकार द्वारा हड़ताली बीआरपी-सीआरपी को हटाने की प्रक्रिया शुरू हो गई.

झारखंड बनेगा मत्स्य निर्यातक राज्य

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -