भारत में मुस्लमान नहीं हैं सुरक्षित-फारुख अब्दुल्ला

भारत में मुस्लमान नहीं हैं सुरक्षित-फारुख अब्दुल्ला

श्रीनगर: देश में इन दिनों मोब लीचिंग के मामले काफी बढ़ गए हैं, बात सुप्रीम कोर्ट तक भी पहुँच चुकी है, संसद के मानसून सत्र में भी इस मुद्दे को काफी उछाला जा रहा है. इसी मुद्दे पर अब जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री का भी एक विवादित बयान सामने आया है. हमेशा विवादों में रहने वाले फारुख अब्दुल्ला ने कहा है कि भारत में मुसलमान सुरक्षित नहीं हैं, भीड़ पागल कुत्तों की तरह उनके पीछे दौड़कर उन्हें मार रही है.

मॉब लिंचिंग की घटनाओं के लिए राजनीति जिम्मेदार: राहुल गाँधी

अब्दुल्ला ने आगे कहा कि "भारत अब वो नहीं रहा जिसे हम जानते हैं, यहाँ के मुसलमानों पर अल्लाह रहम करे." इससे पहले संसद में भी मोब लीचिंग को लेकर कांग्रेस और सीपीएम के सांसदों ने काफी हंगामा किया. जिसके जवाब में गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि मोब लीचिंग के मुद्दे दुर्भाग्यपूर्ण हैं और राज्य स्तर पर इसका कड़ा विरोध किया जाना चाहिए, आरोपियों के खिलाफ दंड के कड़े प्रावधान बनाए जाने चाहिए.

मॉब लिंचिंग पर SC का फैसला

राजनाथ सिंह ने कहा कि देश में बढ़ रहे मोब लीचिंग के मामलों की सबसे बड़ी वजह सोशल मीडिया है, जिस तरह से लोग सोशल मीडिया का इस्तेमाल कर फेक न्यूज़ फैला रहे हैं. उसी से इस तरह की घटनाएं हो रही हैं. उन्होंने कहा कि हमे फेक न्यूज़ रोकने के लिए सिक्योरिटी चेक सिस्टम लगाने चाहिए, ताकि इस तरह की घटनाओं पर अंकुश लग सके. हालाँकि कांग्रेस समेत विपक्ष के सभी सांसद, गृहमंत्री की इस बात से असंतुष्ट नज़र आए और उन्होंने सत्र से वाक आउट कर दिया. 

संबंधित खबर:-​

मॉब लिंचिंग : जयंत की सफाई, दोषियों को मिले सजा

 

?