बेदर्दी बेटा: पाल पोस कर जिस माँ ने किया बड़ा, उसी बेटे ने कर डाला शर्मनाक काम

इंदौर: इंदौर ने तमाम मोर्चों पर कई उपलब्धियां हासिल कीं लेकिन बुजुर्गों के केस में ये शहर लगातार अमानवीय बनता जा रहा है। अमानवीयता के किस्से बार बार सुनने के लिए मिल रहे है। पहले नगर निगम के अमले ने बुजुर्ग भिखारियों को ट्रक में भरकर शहर के बाहर छोड़ दिया था और अब एक दंपति बेहद 95 वर्ष की उम्र की मां को फुटपाथ पर छोड़कर चल दिया। ये असंवेदनशीलता उस समय की गयी जब श्राद्ध चल रहे थे और पूरा देश अपने पुरखों को तर्पण कर रहा था। CCTV फुटेज देखकर हर किसी का दिल दहल गया है। इंदौर के दामन पर फिर एक बुजुर्ग महिला के साथ अमानवीयता का दाग लग गया है। घटना का वीडियो सामने आया है जो रोंगटे खड़े करने लगा है। श्राद्ध पक्ष के दिन एक बेटे ने अपनी जीवित मां का त्याग कर दिया। बेटा रात में मां को फुटपाथ पर लावारिस छोड़कर चल दिया।

हत्या के बाद पत्नी ने काटा पति का गुप्तांग, चौंकाने वाला है मामला

शहर पर दाग: वैसे तो देश के सबसे स्वच्छ शहर इंदौर को रहने लायक शहरों की सूची में टॉप टेन में स्थान दिया है। लेकिन यहां हुई एक घटना ने शहर की सफाई और संजीदगी पर दाग लगाया गया है। 90 वर्ष की एक बुजुर्ग महिला को उसके परिवार के लोग ही रात में फुटपाथ पर लावारिस हालत में छोड़कर जा चुके है। ये घटना पंचकुइया भूतेश्वर महादेव मंदिर में लगे CCTV कैमरों में कैद हो चुकी है। मंदिर के सीसीटीवी कैमरे में दिखा कि 24 सितंबर की रात 90 से 95 वर्ष की बुजुर्ग महिला को एक पुरुष और युवती मंदिर के बाहर बने फुटपाथ  पर बैठाकर जा रहा था। युवती बुजुर्ग के पास उनके सामान की पोटली रखती दिखाई दे रही है।

गर्लफ्रेंड ने इंस्टाग्राम पर लड़कों को नहीं किया अनफॉलो तो भड़क गया बॉयफ्रेंड, उठा लिया ये खौफनाक कदम

मां को फुटपाथ पर छोड़ गया परिवार: वहां से गुजर रहे लोगों ने जब मंदिर के बाहर बुजुर्ग महिला को लावारिस हालात में देखा तो पुलिस को जानकारी दे दी। मल्हारगंज पुलिस और निराश्रित सेवा आश्रम के युवा फौरन वहां गए। उन्होंने देखा कि बुजुर्ग महिला चलने-फिरने के साथ ही बोलने में भी असमर्थ है, निराश्रित सेवा आश्रम के यश पाराशर उस महिला को गोद में उठाकर आश्रम लेकर पहुंचे। ऐसा समझा जा रहा है कि बुजुर्ग के बेटे और बहू यहां छोड़कर गए हैं। CCTV फुटेज के आधार पर बुजुर्ग को छोडक़र जाने वालों की पहचान भी की जाने लगी।

बुजुर्ग मां के पैर में घाव, बोलने में असमर्थ: खबरों का कहना है कि निराश्रित आश्रम के यश पाराशर का बोलना है बुजुर्ग महिला की आयु 90 से 95 वर्ष के मध्य है। ना वो चल पा रही हैं ना बोल पा रही हैं। वो घबराहट के कारण कुछ भी बता पाने में असमर्थ हैं। उनके हाथों पर घाव भी देखने के लिए मिले है। सर्व पितृ अमावस्या के दिन अपने ही परिवार के वृ्द्ध जन को त्याग देना बहुत शर्मनाक भी है। हम ईश्वर से प्रार्थना करते हैं कि उनके बच्चों को सद्बुद्धि दे।

Ind Vs Sa: भारत-अफ्रीका के बीच पहला T20 मैच आज, जानिए कहां-कैसे देख पाएंगे मैच

पाकिस्तानी टीम को लगा झटका, चेस्ट में इन्फेक्शन के चलते अस्पताल में भर्ती हुआ ये स्टार प्लेयर

हत्या के बाद पत्नी ने काटा पति का गुप्तांग, चौंकाने वाला है मामला

न्यूज ट्रैक वीडियो

Most Popular

- Sponsored Advert -