'पाकिस्तान में बैठे आका ने दिया था नूपुर के कत्ल का आदेश', आतंकी नदीम ने किया बड़ा खुलासा

सहारनपुर: यूपी के सहारनपुर से पकड़े गए दहशतगर्द नदीम के मामले में बड़ा खुलासा हुआ है। नदीम पाकिस्तानी हैंडलर सैफुल्लाह के संपर्क में था तथा उसे सैफुल्लाह ने ही नूपुर शर्मा की हत्या का आदेश दिया था। नदीम अपने इरादों में सफल हो पाता, इससे पहले ही यूपी पुलिस की एंटी टेररिस्ट स्क्वॉड (एटीएस) ने उसे धर दबोचा।

उत्तर प्रदेश पुलिस के एडीजी लॉ एंड ऑर्डर ने इस सिलसिले में बताया कि नदीम ने सोशल मीडिया पर फर्जी आईडी बनाई और उसी फर्जी आईडी के माध्यम से वह पाकिस्तान में बैठे हैंडलर के संपर्क में था। पाकिस्तान में बैठे सैफुल्लाह ने नदीम को आईईडी बनाने से संबंधित लिटरेचर भेजा तथा lone wolf attack के लिए चाकू से मारने की ट्रेनिंग भी दी। उत्तर प्रदेश के एडीजी लॉ एंड ऑर्डर के अनुसार, नदीम पाकिस्तान एवं अफगानिस्तान के कई हैंडलर्स के संपर्क में था। उन्होंने कहा कि नूपुर शर्मा पर हमले से लेकर अन्य टारगेट को लेकर भी उससे पूछताछ की जा रही है। उत्तर प्रदेश के एडीजी ने ये भी कहा कि सन 2018 में नदीम का संपर्क जैश-ए-मोहम्मद के सदस्य से हुआ था। इसने नदीम को पाकिस्तान एवं अफगानिस्तान से जोड़ा। फिर नदीम का संपर्क सैफुल्लाह से करवाया तथा इसके बाद उसे जिहादी साहित्य दिया गया। 

उन्होंने ये भी कहा कि नदीम ने जिहाद के लिए अफगानिस्तान जाने की इच्छा भी व्यक्त की थी तत्पश्चात, दहशतगर्दो ने उसे कई अंतर्राष्ट्रीय प्लेटफार्म्स से भी जुड़वाया। एटीएस से प्राप्त हुई जानकारी के अनुसार, मोहम्मद नदीम के मोबाइल को कब्जे में लेकर उसकी पड़ताल की गई तो कई रहस्य खुले। वह पाकिस्तान से भेजी गई पुस्तक पढ़कर फिदायीन बन रहा था। उत्तर प्रदेश एटीएस के अनुसार, नदीम को पाकिस्तान के नंबर से 70 पेज की बुकलेट भेजी गई थी। हिंदी और उर्दू में लिखी Explosive course, Fidae Force से वह आईईडी बनाना सीख रहा था। उत्तर प्रदेश एटीएस ने नदीम के मोबाइल से पीडीएफ फॉर्मेट में भेजा गया फिदायीन बनने का कोर्स मैटेरियल बरामद किया है। नदीम के बनाए गए टेलीग्राम ग्रुप पर पाकिस्तान, अफगानिस्तान एवं सीरिया के भी कई नंबर से लोग जुड़े थे। नदीम के मोबाइल फोन से सैफुल्लाह के साथ उसकी लंबी चैट्स भी प्राप्त हुई हैं। कई जगह सैफुल्लाह ने कोडवर्ड का उपयोग किया है जिसे डिकोड करने में फोरेंसिक टीम जुटी है। सैफुल्लाह ने नदीम को कई लॉक्ड PDF फाइल्स भी भेजी हैं जिन्हें अनलॉक करने का प्रयास भी उत्तर प्रदेश एटीएस कर रही है। कहा जा रहा है कि सैफुल्लाह जैश और तहरीक-ए-तालिबान के बीच की कड़ी है।

ममता बनर्जी ने बताया 'भारत' का मतलब, लोगों से भी पुछा- आपकी क्या राय है ?

पहली बार फायर डिपार्टमेंट को मिलीं दो महिला अफसर

NDA को लग सकता है एक और बड़ा झटका, सामने आई ये बड़ी वजह

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -