प्रवासी मजदूरों की मदद इस तरीके से कर रही हैं मध्य प्रदेश पुलिस

कोरोना की रोकथाम के लिए लॉकडाउन की अवधि को बढ़ाया गया है. वहीं, देशभर में लागू लॉकडाउन के बीच अपने घरों की तरफ वापस लौट रहे मजदूरों की मदद में मध्य प्रदेश पुलिस की एक पहल को काफी सराहा जा रहा है. दरअसल मध्य प्रदेश के इंदौर जिले में पुलिस ने प्रवासी मजदूरों के लिए जगह-जगह भोजन कराने की व्यवस्था की हुई है.

इस बारें में पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि प्रवासी मजदूरों और अन्य राहगीरों के लिए जिले में कई जगहों पर भोजनशालाएं चलाई जा रही हैं. इन जगहों में क्षिप्रा, सिमरोल, बड़गोंदा, मानपुर, किशनगंज और बेटमा शामिल हैं. इन भोजनशालाओं की जिम्मेदारी पुलिसकर्मियों और समाजसेवी संस्थाओं के स्वयंसेवकों की तरफ से संभाली जा रही है. प्रवासी मजदूरों के लिए चलाई जा रहीं इन भोजनशालाओं के बाहर पुलिस ने बैनर भी लगवा रखे हैं, जिन पर लिखा है- कृपया भोजन करके जाएं. पुलिस अधिकारी ने बताया कि प्रवासी मजदूरों को किसी तरह की परेशानी का सामना न करना पड़े इसके लिए अलग-अलग जगहों पर पीने के पानी का भी इंतजाम किया गया है.

बता दें की अधिकारी ने आगे बताया कि महाराष्ट्र और गुजरात से पलायन करने वाले प्रवासी मजदूर खासकर इंदौर जिले से होते हुए अपने मूल निवास स्थानों की ओर बाद रहे हैं. ऐसे में कई लोग अपने परिवार के साथ पैदल ही निकल पड़े है. इन्हीं लोगों की मदद के लिए यह इंतजाम किए गए हैं. अधिकारी ने बताया कि घर लौट रहे प्रवासी मजदूरों में उत्तरप्रदेश के लोगों की तादाद सबसे ज्यादा है.

इस शहर में केमिकल गैस हुई लीक, 5 लोगों ने गवाई जान

विशाखापत्तनम फैक्ट्री में लीक हुई जहरीली गैस, 6 की मौत, 120 की हालत बिगड़ी

कोरोना ने नीमच में दी दस्तक, झाबुआ में भी पहला मामला आया सामने

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -