कन्हैया ने स्मृति को मदर्स डे पर लिखा ताने भरा खुला खत

नई दिल्ली : जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय का विरोध प्रदर्शन मामला थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। एक ओर जहाँ जेएनयूसू अध्यक्ष कन्हैया कुमार और एबीवीपी के सौरभ शर्मा ने अनशन तोडा वही दूसरी और इन्होने सरकार के विरोध में स्मृति ईरानी को एक ताना भरा खुला पत्र भी लिख कर भेज दिया है।यह पत्र कन्हैया ने मदर्स दे के मौके पर मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी को लिखा है।

कन्हैया कुमार और एबीवीपी के सौरभ शर्मा ने अनशन तोड़ तो दिया लेकिन इनका रिले अनशन अभी भी जारी है। साथ ही इन्होने जुर्माने के लिए चंदा मांगना शुरू कर दिया है। हम आपको बता दे इस पत्र में कन्हैया ने लिखा है कि 'आपकी ममता की छांव तले हम बच्चे मन लगाकर पढ़ने की कोशिश कर रहे हैं भूखे रहकर और पुलिस से पिटकर भी किस तरह पढ़ाई की जाती है। एक मां अपने बच्चों को वीडियो और एक तरफा जांच समिति की रिपोर्ट के आधार पर दंड देने की प्रक्रिया को कैसे स्वीकार कर सकती है? बच्चे 11 दिन से भूखे रहकर आपसे यह सवाल पूछ रहे हैं। समय मिले तो जवाब जरुर दीजियेगा।'

दूसरी और सौरभ शर्मा ने जुर्माना देने के लिए सभी से एक-एक रुपये की मांग की है। इसके लिए इन्होने अपना अकाउंट नंबर भी बाटना शुरू कर दिया है। सौरभ का कहना है कि मैंने देश हित में आवाज उठाई थी लेकिन प्रशासन ने मुझे ही सजा दे दी। अब देखना यह है की देश में चल रहा ये प्रदर्शन कब ख़त्म होगा। 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -