संसद में गूंजा 'नागालैंड हिंसा' का मुद्दा, राज्यसभा 2 बजे तक के लिए स्थगित

नई दिल्ली: संसद के जारी शीतकालीन सत्र की कार्यवाही पांचवें दिन सोमवार को पुनः शुरू हो गई है. उच्च सदन में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया दो विधेयकों को चर्चा और पारित करने के लिए पेश करेंगे. इनमे ‘असिस्टेड रिप्रोडक्टिव टेक्नोलॉजी (रेगुलेशन) बिल, 2021’ और ‘सरोगेसी (रेगुलेशन) बिल, 2020’ शामिल हैं. वहीं, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के भी आज सदन को संबोधित कर सकती हैं.

वहीं, संसद के निचले सदन में भी स्वास्थ्य मंत्री ‘नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फार्मास्युटिकल एजुकेशन एंड रिसर्च (संशोधन) बिल, 2021’ को विचार और पारित करने के लिए प्रस्तुत करेंगे. इसके साथ ही, केंद्रीय कानून मंत्री किरेन रिजिजू भी ‘हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट के जजों (वेतन और सेवा की शर्तें) संशोधन बिल, 2021’ सदन में पेश करने वाले हैं. वहीं, उच्च सादन में विपक्षी नेताओं के हंगामे के बाद सदन की कार्यवाही को 2 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया है. दरअसल, राज्यसभा में विपक्षी नेताओं ने नागालैंड हिंसा को लेकर हंगामा किया था, जिसे लेकर केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह आज सदन को संबोधित करने वाले हैं. 

राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे और कई अन्य विपक्षी सदस्यों ने संसद के मानसून सत्र के दौरान राज्यसभा में ‘अशोभनीय आचरण’ को लेकर शीतकालीन सत्र की शेष अवधि के लिए सस्पेंड किए गए 12 सांसदों के निलंबन के खिलाफ सोमवार को संसद परिसर में धरना दिया. निलंबन के बाद से हर दिन प्रदर्शन कर रहे 12 निलंबित विपक्षी सदस्यों ने आज भी संसद परिसर में महात्मा गांधी की प्रतिमा के समक्ष धरना प्रदर्शन किया. खड़गे और कई अन्य विपक्षी सांसद उनके समर्थन के लिए पहुंचे और सरकार के खिलाफ नारे लगाए.

नागालैंड हिंसा: सुरक्षाबलों पर FIR दर्ज, राज्य पुलिस ने लगाई हत्या की धारा

नागालैंड गोलीबारी की घटना पर चर्चा के लिए पीएम मोदी ने शीर्ष मंत्रियों से मुलाकात की

विपक्षी दल अपने दम पर बीजेपी से नहीं लड़ सकते: दिनेश शर्मा

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -