रेलवे पटरियों पर क्यों बिछी होती है गिट्टी

रेलवे पटरियों पर क्यों बिछी होती है गिट्टी
Share:

क्या आपने कभी सोचा है कि रेलवे ट्रैक पर पत्थर क्यों बिछाए जाते हैं? ये पत्थर, जिन्हें गिट्टी भी कहा जाता है, देश भर में रेलवे ट्रैक पर आम बात है। हालाँकि यह एक साधारण बात लग सकती है, लेकिन गिट्टी का उद्देश्य ट्रेनों के सुचारू संचालन के लिए महत्वपूर्ण है। इस लेख में, हम उन कारणों का पता लगाएँगे कि रेलवे ट्रैक पर गिट्टी क्यों बिछाई जाती है और यह ट्रेनों के संचालन को कैसे प्रभावित करती है।

रेल की पटरियों पर पत्थर क्यों बिछाए जाते हैं?

रेलवे ट्रैक पर बिछाए गए पत्थरों को गिट्टी के नाम से जाना जाता है। गिट्टी रेलवे ट्रैक का एक ज़रूरी घटक है और इसका मुख्य काम चलती ट्रेनों से होने वाले शोर और कंपन को कम करना है। जब ट्रेनें पटरियों पर चलती हैं, तो वे बहुत ज़्यादा शोर और कंपन पैदा करती हैं, जिससे पटरियों और आस-पास के बुनियादी ढांचे को नुकसान पहुँच सकता है। गिट्टी इस शोर और कंपन को सोखने में मदद करती है, जिससे पटरियों और आस-पास के वातावरण पर पड़ने वाला असर कम होता है।

शोर और कंपन को कम करने के अलावा, गिट्टी स्लीपर्स (लकड़ी या कंक्रीट के स्लैब जो पटरियों को अपनी जगह पर रखते हैं) को ज़मीन में धंसने से रोकने में भी मदद करती है। यह भारी बारिश या बाढ़ वाले क्षेत्रों में विशेष रूप से महत्वपूर्ण है, जहाँ ज़मीन नरम और अस्थिर हो सकती है। गिट्टी स्लीपर्स को अपनी जगह पर रखने में मदद करती है, जिससे यह सुनिश्चित होता है कि पटरियाँ स्थिर और सुरक्षित रहें।

गिट्टी का एक और महत्वपूर्ण कार्य पटरियों पर खरपतवारों को बढ़ने से रोकना है। खरपतवार तेज़ी से बढ़ सकते हैं और ट्रेनों के लिए समस्याएँ पैदा कर सकते हैं, जिसमें ट्रैक्शन को कम करना और देरी करना शामिल है। गिट्टी खरपतवारों को बढ़ने से रोकने में मदद करती है, जिससे पटरियाँ साफ़ और ट्रेनों के संचालन के लिए सुरक्षित रहती हैं।

रेल की पटरियों पर पत्थर कैसे बिछाए जाते हैं?

रेलवे ट्रैक पर गिट्टी बिछाना एक जटिल प्रक्रिया है जिसके लिए सावधानीपूर्वक योजना और निष्पादन की आवश्यकता होती है। इस प्रक्रिया में आमतौर पर निम्नलिखित चरण शामिल होते हैं:

1. ट्रैक की तैयारी: ट्रैक को किसी भी मलबे या बाधाओं को साफ करके तैयार किया जाता है।
2. गिट्टी बिछाना: गिट्टी को ट्रैक पर बिछाया जाता है, आमतौर पर लगभग 20-30 सेमी मोटी परत में।
3. गिट्टी को दबाना: गिट्टी को विशेष मशीनरी का उपयोग करके दबाया जाता है ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि यह कसकर पैक और स्थिर है।

गिट्टी रेलगाड़ियों की कार्यप्रणाली को किस प्रकार प्रभावित करती है?

रेलवे ट्रैक पर गिट्टी ट्रेनों के संचालन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। गिट्टी के बिना, ट्रेनें सुरक्षित और कुशलता से नहीं चल पाएंगी। गिट्टी शोर और कंपन को कम करने, स्लीपरों को जमीन में धंसने से रोकने और पटरियों पर खरपतवारों को उगने से रोकने में मदद करती है। ये सभी कारक ट्रेनों के सुचारू संचालन में योगदान करते हैं, यह सुनिश्चित करते हुए कि वे सुरक्षित और कुशलता से चल सकें।

इसके अलावा, गिट्टी रेलवे नेटवर्क की समग्र सुरक्षा को बेहतर बनाने में भी मदद करती है। दुर्घटनाओं और देरी के जोखिम को कम करके, गिट्टी यह सुनिश्चित करने में मदद करती है कि ट्रेनें देश भर में यात्रियों और माल को ले जाने के लिए सुरक्षित और कुशलतापूर्वक चल सकें।

निष्कर्ष में, रेलवे ट्रैक पर गिट्टी रेलवे नेटवर्क का एक महत्वपूर्ण घटक है। इसके महत्व को कम करके नहीं आंका जा सकता है, और यह ट्रेनों के सुचारू संचालन को सुनिश्चित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। रेलवे ट्रैक पर गिट्टी बिछाना भले ही एक साधारण मामला लगता हो, लेकिन यह एक जटिल प्रक्रिया है जिसके लिए सावधानीपूर्वक योजना और निष्पादन की आवश्यकता होती है। अगली बार जब आप रेलवे ट्रैक पर पत्थर बिछा हुआ देखें, तो याद रखें कि हमारी ट्रेनों को सुरक्षित और कुशलतापूर्वक चलाने में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका होती है।"

यूजर ने जावेद अख्तर को कहा- 'गद्दार का बेटा', गीतकार ने लगाई लताड़

भाई लव ने ख़त्म किया सोनाक्षी सिन्हा से रिश्ता! पोस्ट देख चौंके फैंस

'पहले KISS, फिर झगड़ा...', मल्लिका शेरावत को लेकर इमरान हाशमी ने कही ये बात

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -